गन्ना किसानों के लिए बड़ी खबर: गन्ने के FRP में 5 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी, पांच करोड़ गन्ना किसानों को फायदा होगा

0
31
Article Top Ad


  • Hindi News
  • Business
  • Sugarcane FRP Hiked By 5 Rupees Per Quintal, Government’s Focus On Promoting Sugar Exports

नई दिल्ली26 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

सरकार ने गन्ने का FRP (फेयर एंड रेम्यूनरेटिव प्राइस) 5 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ा दिया। अब गन्ना किसानों को 290 रुपए प्रति क्विंटल का FRP मिलेगा। लेकिन अगर किसी किसान की रिकवरी 9.5% से कम भी होती है, तो उन्हें 275.50 रुपये प्रति क्विंटल मिलेंगे। यह फैसला पीएम की अध्यक्षता में आज हुई कैबिनेट मीटिंग में लिया गया। यह जानकारी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दी।

गोयल ने कहा कि देश के गन्ना किसानों ने उन्नत तकनीक का इस्तेमाल करके रिकवरी बढ़ाई है। उनका कहना है कि इससे पांच करोड़ गन्ना किसानों को फायदा होगा। उन्होंने कहा कि चीनी मिलों और इससे जुड़े उद्यमों में लगभग पांच लाख वर्कर लगे हुए हैं।

गोयल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में सरकार के फैसले की जानकारी देते हुए बताया कि FRP पिछले साल 10 रुपए प्रति क्विटंल बढ़ाया गया था। उनके मुताबिक, गन्ने का मौजूदा FRP अब तक के सबसे ऊपरी स्तर पर पहुंच गया है। गन्ने का FRP बढ़ाए जाने से क्या एथनॉल की कीमतों में भी इजाफा होगा, इस सवाल के जवाब में गोयल ने कहा कि इसके लिए ऑयल कंपनियों ने एक मैकेनिज्म बनाया हुआ है।

उन्होंने कहा कि गन्ने के दाम में बढ़ोतरी का ज्यादा बोझ उपभोक्ताओं पर नहीं पड़े, इस बात का पूरा ध्यान दिया गया है। उन्होंने कहा कि इसके लिए चीनी मिलों को निर्यात और पेट्रोल में एथनॉल ब्लेंडिंग करने के लिए बढ़ावा दिया जा रहा है। गोयल ने कहा कि ढाई से तीन साल में एथनॉल में पेट्रोल की ब्लेंडिंग 20% तक पहुंच सकती है।

केंद्रीय मंत्री ने पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में कहा कि पहले चीनी मिलों पर गन्ना किसानों का दो तीन साल तक बकाया रह जाता था। उन्होंने कहा कि अब ऐसा नहीं होता क्योंकि सरकार ने इस दिशा में ठोस कदम उठाए हैं।

खबरें और भी हैं…



Source