जॉनसन एंड जॉनसन के सीईओ गोर्स्की पद छोड़ेंगे

0
31
Article Top Ad


Photo:JOHNSON & JOHNSON

जॉनसन एंड जॉनसन के सीईओ गोर्स्की पद छोड़ेंगे

वाशिंगटन: जॉनसन एंड जॉनसन अगले साल की शुरुआत में अपने चेयरमैन और सीईओ एलेक्स गोर्स्की की जगह कंपनी के एक वरिष्ठ कार्यकारी को इन पदों पर नियुक्त करेगी। दुनिया में स्वास्थ्य सेवा उत्पादों की सबसे बड़ी निर्माता कंपनी ने बृहस्पतिवार को देर रात कहा था कि जोकिन डुओटो को अगले साल तीन जनवरी को जॉनसन एंड जॉनसन का सीईओ और उसके निदेशक मंडल का सदस्य नियुक्त किया जाएगा।

डुओटो (59) वर्तमान में कंपनी की कार्यकारी समिति के वाइस चेयरमैन हैं जिसके तहत उनके कार्यों में कंपनी के दवा और स्वास्थ्य क्षेत्रों के साथ काम करना और उसकी वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला की देखरेख करना शामिल है। डुआटो के पास स्पेन और अमेरिका की दोहरी नागरिकता है और वह जॉनसन एंड जॉनसन के साथ 30 से अधिक वर्षों से जुड़े हैं। गोर्स्की (61), 2012 से कंपनी के चेयरमैन और सीईओ के रूप में कार्य कर रहे हैं और अब बोर्ड के कार्यकारी चेयरमैन बनेंगे।

जॉनसन एंड जॉनसन ने किशोरों पर कोविड टीके का अध्ययन करने के लिए आवेदन किया

दवा निर्माता कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन (जेएंडजे) ने 12 से 17 वर्ष के बच्चों पर अपने कोविड टीके का अध्यन करने के लिए भारतीय दवा नियामक के समक्ष आवेदन दाखिल किया है। अमेरिकी कंपनी ने कहा कि वह अपने कोविड टीके की वैश्विक पहुंच को सुविधाजनक बनाने और बच्चों की अधूरी जरूरतों को पहचानने के लिए प्रतिबद्ध है। भारत में जेएंडजे के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमने 12 से 17 वर्ष के बच्चों पर कोविड वैक्सीन का अध्ययन करने के लिए 17 अगस्त, 2021 को केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएसईओ) के समक्ष आवेदन दाखिल किया है।’’ 

प्रवक्ता ने कहा कि हर्ड इम्युनिटी को प्राप्त करने के लिए यह बहुत जरुरी है कि कोविड-19 वैक्सीन का चिकित्सीय परीक्षण आगे बढ़ता रहे। उन्होंने कहा, ‘‘हम अपनी कोविड वैक्सीन को सभी आयु समूहों के लिए समान रूप से आसान बनाने के लिए आवश्यक महत्वपूर्ण कार्य के लिए गहराई से प्रतिबद्ध हैं।’’ उल्लेखनीय है कि इस महीने की शुरुआत में केंद्र सरकार ने भारत में जॉनसन एंड जॉनसन की एक खुराक वाले कोविड टीके के आपातकालीन उपयोग की मंजूरी दी है। भारत में आपातकालीन उपयोग के लिए अब तक सीरम इंस्टीट्यूट के कोविशील्ड, भारत बायोटेक की कोवैक्सीन, रूस के स्पुतनिक वी, मॉडेर्ना और जे एंड जे को मंजूरी दी जा चुकी है।





Source