लक्ष्मी मित्तल ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की

0
43
Article Top Ad


Photo:@FINMININDIA

लक्ष्मी मित्तल ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की

नई दिल्ली: अनिवासी भारतीय अरबपति लक्ष्मी एन मित्तल ने बृहस्पतिवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की। वित्त मंत्रालय ने ट्वीट में कहा, ‘‘आर्सेलर मित्तल के कार्यकारी अध्यक्ष लक्ष्मी एन मित्तल ने श्रीमती निर्मला सीतारमण के साथ मुलाकात की।’’ मुलाकात में हुई चर्चा की फिलहाल कोई जानकारी नहीं दी गई है। मित्तल लक्जमबर्ग स्थित वैश्विक स्टील दिग्गज आर्सेलर मित्तल के कार्यकारी अध्यक्ष हैं।

एक अन्य जानकारी के मुताबिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण शनिवार को निर्यात-उन्मुख कंपनियों और स्टार्टअप्स के लिए एक महत्वाकांक्षी ‘उभरते सितारे निधि की शुरुआत करेंगी। इस निधि की स्थापना एक्ज़िम बैंक और सिडबी ने की है। एग्जिम बैंक ने एक बयान में कहा, ‘‘निर्मला सीतारमण शनिवार यानी 21 अगस्त, 2021 को निर्यात-उन्मुख छोटी और मध्यम आकार की कंपनियों के लिए एक्ज़िम बैंक और सिडबी द्वारा संयुक्त रूप से प्रायोजित उभरते सितारे निधि को जारी करेंगी।’’ बैंक ने बताया कि यह निधि उत्तर प्रदेश के लखनऊ में जारी की जायेगी।

वित्त मंत्री से मिले फ्लिपकार्ट के सीईओ

फ्लिपकार्ट के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कल्याण कृष्णमूर्ति ने बृहस्पतिवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से मुलाकात की। वित्त मंत्री के कार्यालय ने ट्विटर पर सीतारमण की कृष्णमूर्ति के साथ बैठक की एक तस्वीर साझा की। हालांकि, बैठक का विवरण साझा नहीं किया गया, पर सूत्रों का कहना है कि सीईओ ने वित्त मंत्री को देश के विभिन्न विक्रेताओं, विशेष रूप से सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (एमएसएमई) के साथ कंपनी के जुड़ाव की जानकारी दी। 

उन्होंने बताया कि कृष्णमूर्ति ने ई-कॉमर्स कंपनी के मंच के जरिये शिल्पकारों और बुनकरों की अधिक खरीदारों तक पहुंच में मदद करने पर ध्यान देने का भी उल्लेख किया। इस बारे में फ्लिपकार्ट को भेजे गए ईमेल का कोई जवाब नहीं आया। समझा जाता है कि देशभर के तीन लाख से अधिक पंजीकृत विक्रेता फ्लिपकार्ट मार्किटप्लेस पर हैं। इसमें 60 प्रतिशत के करीब दूसरी श्रेणी और उससे भी निम्न श्रेणी वाले शहरों के विक्रेता हैं। फ्लिपकार्ट अपने थोक व्यवसाय और अंतिम छोर तक माल की सुपुर्दगी कार्यक्रम के तहत देश के 16 लाख से अधिक किराना दुकानदारों के साथ जुड़ी है।





Source