45 के बाद शरीर में होते हैं ये 4 बड़े बदलाव, जानिए कैसे बनाएं खुद को स्ट्रॉन्ग

0
37
Article Top Ad


How To Stay Strong After 45: हमारे शरीर में उम्र बढ़ने के साथ-साथ कई बदलाव होते हैं लेकिन 45 साल की उम्र में हमारे शरीर में कुछ ऐसे परिवर्तन होते हैं जिनका जानना हमारे लिए बहुत जरूरी है. क्या आप जानते हैं कि 45 साल की उम्र के बाद हमारी स्किन, सेहत और स्टैमिना पर खासा असर पड़ता है. हम कुछ ऐसी समस्याओं से रूबरू होने लगते हैं जो हमने पहले कभी सोची भी नहीं हो. जैसे हड्डियों में कमजोरी, दातों में खराबी, बाल पतले होना, मेटाबॉलिज्म की कमी, पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन के लेवल की कमी और हार्ट का कमजोर होना आदि. इसलिए 45 साल की उम्र के बाद हमें अपनी हड्डियों, हार्ट और ब्रेन का खास ख्याल रखने की जरूरत है.

एनबीटी की एक रिपोर्ट में एमडी मेडिसिन डॉ मिलिंद प्रकाशकर ने बताया है कि इस उम्र के बाद शरीर का डी-जेनरेशन शुरू हो जाता है और इसे मेल मेनोपॉज या एंड्रोपॉज भी कहा जा सकता है. उन्होंने 45 के बाद शरीर के 4 बड़े बदलाव और उससे बचाव के तरीके बताए हैं. इसके साथ ही उन्होंने हड्डियों और हार्ट के लिए कुछ एक्सरसाइज भी बताई हैं, जिन्हें हम अपनी दिनचर्या में शामिल कर 45 की उम्र के बाद होने वाले बड़े बदलावों की चुनौती का सामना कर सकते हैं.

कम हो जाती है लंबाई
45 साल की उम्र के बाद लंबाई 1 से 3 इंच तक कम हो सकती है. इस उम्र के बाद सेल्स का डीग्रेडेशन तेजी से शुरू हो जाता है. हड्डियों का घनत्व घटने लगता है. इसके साथ ही शरीर में पानी की मात्रा भी कम होने लगती है. इस उम्र के बाद लंबाई हर 10 साल में लगभग 1 सेमी कम हो जाती है.

यह भी पढ़ें- कोलेस्ट्रॉल कम करना है तो जरूर खाएं अखरोट- रिसर्च

हड्डियों के लिए कौन सी एक्सरसाइज है जरूरी?
हड्डियों की मजबूती के लिए हमें हफ्ते में 4 दिन 30 मिनट वेट एक्सरसाइज करनी चाहिए. मतलब वजन उठाने वाला व्यायाम हड्डियों के लिए बेस्ट है. ये ग्रेविटी के विरुद्ध काम करने के लिए मजबूर करती हैं, जिससे हड्डियां मजबूत होती हैं.

400 एमएल तक बल्ड पंप कम होता है.
45 की उम्र के बाद दिल की धड़कन 60 बीट प्रति मिनट से कम हो सकती है. इसके साथ हर 10 साल में ब्लड पंप की क्षमता 5 से 10 प्रतिशत तक कम हो जाती है. आमतौर पर 25 की उम्र में हार्ड 2.4 लीटर ब्लड पंप करता है जबकि 45 उम्र में ये 2 लीटर रह जाता है.

यह भी पढ़ें- कोरोना के बाद यदि दिखाई देते हैं ये लक्षण तो तुरंत करें डॉक्टर से संपर्क- रिसर्च

हार्ट के लिए एक्सरसाइज
अधिकतम हार्ट रेट 80 प्रतिशत के साथ 30 मिनट कार्डियो एक्सरसाइज करें. मतलब जॉगिंग, जंपिंग, साइकिलिंग, रस्सी कूदना आदि. 220 में से वर्तमान उम्र घटाने पर मैक्सिमम हार्ट रेट जानी जा सकती है. इसकी 80 प्रतिशत क्षमता के साथ हफ्ते में 4 दिन 30 मिनट कार्डियो एक्सरसाइज करें.

मेटाबॉलिज्म
आराम करने पर हमारे शरीर में जो कैलोरी बर्न होती है उसे आरएमआर कहते है. वहीं मेहनत करने पर जो कैलोरी बर्न होती है उसे एनईएटी कहा जाता है. 45 की उम्र के बाद इन क्रियाओं के माध्यम से बर्न होने वाली कैलोरी 10 से 30 तक कम बर्न होती है.

कौन सी एक्सरसाइज करें?
रात का खाना खाने के बाद 15 मिनट जरूर टहलें. डॉक्टर का सुझाव है कि भले ही आप अधिक एक्सरसाइज न करें, लेकिन खाने के बाद 15 मिनट की वॉक जरूर लें, इससे मेटाबॉलिज्म सुधरेगा.

दिमाग
40 के बाद मस्तिष्क का वजन हर 10 साल में लगभग 5 प्रतिशत तक घटने लगता है. न्यूरॉन्स के बीच कनेक्शन्स में कमी आने लगती है. दिमाग में ब्लड फ्लो कम होता है, कई बार ऐसा होता है कि नए नाम याद करने में शब्दों को रिकॉल करने में दिक्कत आती है .

सभी इंद्रियों का करें भरपूर इस्तेमाल
बेहतर याददाश्त के लिए सभी पांच इंद्रियों आंख, कान, नाक, जीभ और त्वचा का उपयोग करना चहिए. ये हमारी भावनाओं से जुड़ी होती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source