बंगाल में आज खेला होबे दिवस: ‘ग्रेट कलकत्ता किलिंग’ से जोड़कर कार्यक्रम पर उठे सवाल, CM बनर्जी बोलीं- जरूरतमंद बच्चों को फुटबॉल बांटे जाएंगे

0
67
Article Top Ad


  • Hindi News
  • National
  • West Bengal Celebrate Khela Hobe Divas One Lakh Footballs Distribution Great Calcutta Killing

कोलकाता15 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

अगस्त की शुरुआत में कोलकाता के नेताजी इंडोर स्टेडियम में CM बनर्जी ने अपने समर्थकों को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने खेला दिवस नाम से योजना की घोषणा की थी।

पश्चिम बंगाल में आज खेला होबे दिवस मनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि इस दिन जरूरतमंद बच्चों को फुटबॉल बांटा जाएगा। वहीं, पार्टी के राज्य महासचिव कुणाल घोष ने कहा कि बच्चों और युवाओं के बीच चरित्र और राष्ट्र निर्माण के लिए खेलों को बढ़ावा देने की यह पहल है। भाजपा नेता इसे राजनीतिक चश्मे से देख रहे हैं, जो सही नहीं है।

दरअसल, इस साल पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान खेला होबे नारे का खूब इस्तेमाल हुआ। बनर्जी ने बार-बार BJP के खिलाफ इस नारे का इस्तेमाल किया, जो इलेक्शन में TMC के खिलाफ मुख्य दावेदार थी। उनका कहना है कि केंद्र में भाजपा को सत्ता से बेदखल करने तक यह राजनीतिक लड़ाई जारी रहेगी।

16 अगस्त 1946 को ग्रेट कलकत्ता किलिंग की शुरुआत
‘ग्रेट कलकत्ता किलिंग’ से जोड़कर कार्यक्रम पर सवाल उठाए जा रहे हैं। BJP के राज्यसभा सांसद स्वप्न दासगुप्ता ने कहा कि 16 अगस्त 1946 को मुस्लिम लीग ने डायरेक्ट एकश्न डे शुरू किया, जिसके बाद ग्रेट कलकत्ता किलिंग की शुरुआत की। आज के पश्चिम बंगाल में खेला होबे विरोधियों पर आतंकी हमलों की लहर का प्रतीक बन गया है।

राज्यपाल ने भी CM से तारीख बदलने को कहा था
विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी ने पिछले हफ्ते बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ से कई साक्षुओं के साथ मुलाकात की थी। इस दौरान उन्होंने खेला होबे दिवस की तारीख बदलवाने की अपील की। इसके बाद धनखड़ ने बनर्जी से इसे बदलने के लिए कहा था, लेकिन वो इसके लिए राजी नहीं हुईं।

खेल क्लबों को 1 लाख फुटबॉल दिए जाएंगे
कुछ दिनों पहले कोलकाता के नेताजी इंडोर स्टेडियम में भीड़ को संबोधित करते हुए CM बनर्जी ने खेला दिवस नाम से योजना की घोषणा की। इसके तहत पश्चिम बंगाल खेल और युवा मामलों का विभाग विभिन्न खेल क्लबों को 1 लाख से अधिक फुटबॉल देगा। उन्होंने कहा कि भारतीय फुटबॉल संघ (IAF) के तहत 303 क्लबों को 10 गेंदें दी जाएंगी। मोहन बागान, मोहम्मडन और पूर्वी बंगाल को 100-100 गेंदें टोकन के रूप में दी जाएंगी।

खबरें और भी हैं…



Source