विनेश फोगट के सपोर्ट में खुलकर सामने आए ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट नीरज चोपड़ा, बोले- कई बार देश का नाम कर चुकी हैं ये

0
32
Article Top Ad


टोक्यो ओलंपिक में भारतीय महिला पहलवान विनेश फोगट से सभी को मेडल की उम्मीद थी, लेकिन ऐसा हो नहीं सका। विनेश को लेकर विवाद तब खड़ा हुआ, जब स्वदेश लौटने के बाद भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) ने विनेश फोगाट को टोक्यो में अनुशासनहीनता के लिए निलंबित कर दिया। विनेश के सपोर्ट में अब खुलकर जैवलिन थ्रोअर नीरज चोपड़ा सामने आए हैं। नीरज ने टोक्यो ओलंपिक में भारत को इकलौता गोल्ड मेडल दिलाया था। नीरज ने ट्विटर पर विनेश के साथ फोटो शेयर करते हुए उनके सपोर्ट में मैसेज लिखा है।

नीरज ने लिखा, ‘हर खिलाड़ी अपने देश के तिरंगे को ऊंचा करने के मकसद से फील्ड पर उतरता है। विनेश फोगाट हमारे देश की सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक हैं, जिन्होंने तिरंगे को कई बार लहराया है। हम सभी को आप पर गर्व है और आपके करियर के दूसरे फेज तक हम आपको सपोर्ट करते रहेंगे।’ निलंबित पहलवान विनेश फोगाट ने शनिवार को डब्ल्यूएफआई से माफी मांगी, इस माफी के बाद भी इस बात की संभावना कम है कि डब्ल्यूएफआई उन्हें आने वाले वर्ल्ड चैम्पियनशिप में हिस्सा लेने की अनुमति दे दे। विनेश टोक्यो ओलंपिक में क्वार्टर फाइनल में हार कर बाहर हो गई थीं।

 

विनेश ने अपने साथी खिलाड़ियों के साथ ठहरने से ही इनकार नहीं किया था बल्कि टूर्नामेंट के दौरान उनके साथ ट्रेनिंग भी नहीं की थी। इसके साथ ही विनेश ने भारतीय दल के आधिकारिक प्रायोजक के बजाय निजी प्रायोजक के नाम का सिंगलेट पहना था, जिससे डब्ल्यूएफआई ने उन्हें निलंबित कर दिया था। अपने निलंबन के एक दिन बाद, विनेश ने खेलों के दौरान अपने शारीरिक और मानसिक संघर्ष का जिक्र करते हुए कहा था कि उनके पास अपने व्यक्तिगत फिजियो की सेवाएं नहीं थीं। इस 26 वर्षीय पहलवान ने शुक्रवार को डब्ल्यूएफआई द्वारा उन्हें भेजे गए नोटिस का जवाब दिया। इस मामले की जानकारी रखने वाले एक सूत्र ने बताया, ‘डब्ल्यूएफआई को जवाब मिल गया है और विनेश ने माफी मांगी है।’

संबंधित खबरें





Source