Tokyo Paralympics: टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना पटेल ने रचा इतिहास, गोल्ड मेडल जीतने से एक कदम दूर 

0
36
Article Top Ad


टोक्यो पैरालिंपिक 2020 में भारत की भाविना पटेल ने टेबल टेनिस इवेंट में इतिहास रच दिया है। भारत की टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविना ने महिला सिंगल्स के क्लास-4 के फाइनल में जगह बना ली है। उन्होंने सेमीफाइनल में चीन की मियाओ झांग को 3-2 (7-11, 11-7, 11-4, 9-11, 11-8) से हराया। भविना अब बस गोल्ड मेडल जीतने से एक मात्र एक जीत दूर हैं। फाइनल में अब भविना का सामना चीन की ही एक और खिलाड़ी और वर्ल्ड-1 झोउ यिंग से होगा। फाइनल 29 अगस्त को सुबह 7:15 बजे से होगा। भविना इससे पहले, झांग के खिलाफ 11 मुकाबलों में भिड़ी थी, लेकिन वह अभी जीत दर्ज नहीं कर सकी थी। हालांकि आज उन्होंने पिछली सभी हार का बदला ले लिया। 

भाविना ने इससे पहले के मुकाबलों में राउंड ऑफ 16 के मैच नंबर 20 में ब्राजील की ओलिविएरा को हराया। उन्होंने इस मुकाबले को 3-0 से जीता। भाविना ने पहला गेम  12-10 से, दूसरा गेम 13-11 से और तीसरे गेम में 11-6 से जीता। भाविना पटेल पैरालिंपिक में मेडल जीतने के करीब पहुंच गई हैं। गुजरात के मैहसाणा जिले में एक छोटी परचून की दुकान चलाने वाले हंसमुखभाई पटेल की बेटी भाविना को मेडल का कोई दावेदार भी नहीं माना जा रहा था लेकिन उन्होंने अपने प्रदर्शन से इतिहास रच दिया। बारह वर्ष की उम्र में पोलियो की शिकार हुई पटेल ने कहा,’ जब मैं यहां आई तो मैने सिर्फ अपना शत प्रतिशत देने के बारे में सोचा था। अगर ऐसा कर सकी तो मेडल अपने आप मिलेगा।

 

भविना ने इससे पहले, सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही इतिहास रच दिया था। उनसे पहले कोई भी भारतीय पैरा टोक्यो पैरालंपिक्स के टेबल टेनिस के क्वार्टर फाइनल तक भी नहीं पहुंचा था। भाविना ने सेमीफाइनल में पहुंचकर ये रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है। क्वार्टर फाइनल से पहले भाविना ने ग्रेट ब्रिटेन की मेगान शैकलेटॉन को 3-1 से हराया था। 

संबंधित खबरें





Source