गिरफ्तार 6 आतंकियों पर बड़ा खुलासा, दुबई में बैठा है मास्टरमाइंड, ISI कर रही है कंट्रोल!

0
42
Article Top Ad


Image Source : PTI
गिरफ्तार 6 आतंकियों पर बड़ा खुलासा, दुबई में बैठा है मास्टरमाइंड, ISI कर रही है कंट्रोल!

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को 6 आतंकियों- मोहम्मद शेख (47) उर्फ ‘समीर’, ओसामा (22), मूलचंद (47), जीशान कमर (28), मोहम्मद अबु बकर (23) और मोहम्मद आमिर जावेद (31) को गिरफ्तार किया था। यह सभी नवरात्रि और दशहरा के मौके पर आतंकी हमलों को अंजाम देने की फिराक में थे। अब सूत्रों से जानकारी मिली है कि इस आतंकी साजिश का मास्टरमाइंड ओसामा का पिता उसैदुर रहमान हो सकता है।

सूत्रों के मुताबिक, ओसामा का पिता इस समय दुबई में हो सकता है और उसका ISI से सीधा सम्पर्क हो सकता है। ओसामा का पिता मदरसा चलाता है और खजूर का व्यापार करता है। हालांकि, यह जानकारी अभी स्पेशल सेल की ओर से कंफर्म नहीं की गई है। वहीं, सूत्रों के अनुसार, ओसामा का चाचा भी टेरर मॉड्यूल का हिस्सा है। ओसामा के चाचा का नाम हुमैदुर रहमान बताया जा रहा है, जिसकी स्पेशल सेल को तलाश है।

ओसामा के चाचा हुमैदुर रहमान ने ही गिरफ़्तार जिशान को रेडिकलाइज किया और पाकिस्तान ट्रेनिंग लेने के लिए भेजा। हुमैदुर रहमान यूपी के प्रयागराज का रहने वाला है और फिलहाल फरार है। ओसामा से पूछताछ और उसके चैट से यह सारी जानकारी हाथ लगी है। स्पेशल सेल और IB इस मामले की पड़ताल कर रही है। 

सूत्रों ने बताया कि स्पेशल सेल को पूछताछ में यह भी पता चला है कि टेरर और अंडरवर्ल्ड का नया मॉड्यूल खड़ा करने की ज़िम्मेदारी ISI के कर्नल रैंक के अफसर को दी गयी थी, जो ग्वादर पोर्ट के फार्महाउस में ट्रेनिंग के वक़्त मौजूद था। वह सादे कपड़ो में था, जिसे वहां सब सलाम करते थे। कर्नल ने टेरर कम्पोनेंट (मॉड्यूल) को खड़ा करने के लिए ओसामा के पिता को चुना था।

सूत्रों के अनुसार, पूछताछ में पता चला कि ओसामा के पिता ने अपने बेटे को ही आतंकी ट्रेनिंग लेने के लिए पाकिस्तान भेजने का फ़ैसला किया लेकिन एक और लड़के की ज़रूरत भी थी लिहाजा प्रयागराज में मौजूद ओसामा के चाचा हुमैदुर रहमान को टास्क दिया गया और फिर हुमैदुर रहमान ने जिशान को तलाशाकर उसे तैयार किया तथा पाकिस्तान ट्रेनिंग लेने के लिए भेजा।

पूछताछ में पता चला कि अंडरवर्ल्ड कम्पोनेंट का टास्क दाऊद के भाई अनीस को कर्नल गाजी ने दिया था। इस टीम की जिम्मेदारी ट्रेंड आतंकियों को पैसा, हथियार और बारूद मुहैया करवाने की थी, जिसके लिए समीर कालिया का इस्तेमाल किया जा रहा था जो धारावी का रहने वाला है। इसके फ़ोन से भी कुछ व्हाट्सएप मैसेज मिले हैं, जिनको खंगाला जा रहा है।





Source