सिद्धू के सलाहकारों पर गिरेगी गाज? बोले पंजाब कांग्रेस प्रभारी – बयानों की जांच के बाद होगी कार्रवाई

0
34
Article Top Ad


पंजाब कांग्रेस के चीफ नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकारों प्यारे लाल गर्ग और मलविंदर माली ने कश्मीर को लेकर हाल ही में विवादित बात कही थी। अब सिद्धू के इन दोनों सलाहकारों पर गाज गिर सकती है। पंजाब कांग्रेस के प्रभारी हरीश रावत ने सोमवार को कहा कि उनके बयान आशंकाओं से भरे हैं, लेकिन अगर उन्होंने यह बयान दिया है तो कार्रवाई की जाएगी। हरीश रावत ने आगे कहा कि ‘ये सलाहकार कांग्रेस द्वारा नियुक्त नहीं किये गए हैं। प्रदेश अध्यक्ष ने इन्हें अपने स्तर से नियुक्त किया है। अगर ऐसा कोई व्यक्ति निजी राय जाहिर करता है तो इससे पार्टी का क्या संबंध है? इसके बाद भी हम इसकी जांच करा रहे हैं। मैंने सिद्धू जी और कुछ अन्य लोगों से भी जानकारियां मांगी थीं। मुझे बताया गया कि बयान को राजनीतिक फायदे के लिए तोड़ा-मरोड़ा जा सकता है।’

हरीश रावत ने आगे कहा कि ‘मैं पार्टी की तरफ से साफ करना चाहता हूं कि जम्मू और कश्मीर भारत का हिस्सा हैं। किसी को भी इस मसले पर किसी तरह की आशंका नहीं हो सकती है।’ हरीश रावत ने कहा कि इस बयान को राजनीतिक फायदने के लिए तोड़ा-मरोड़ा भी जा सकता है। ताकि आने वाले विधानसभा चुनाव में इसका फायदा उठाया जा सके। लेकिन अगर उन्होंने ऐसा बयान दिया है तो इसपर कार्रवाई होगी।

दरअसल, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकार मालविंदर सिंह माली ने कश्मीर को लेकर एक विवादित बयान दिया था। जिसके बाद वो कई नेताओं के निशाने पर आ गए। माली ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट करते हुए लिखा था कि कश्मीर एक अलग देश था, भारत और पाकिस्तान ने उस पर अवैध कब्जा किया था। माली ने कहा कि कश्मीर, कश्मीर के लोगों का है।

सिद्धू के सलाहकारों के बयान को लेकर मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्विटर पर लिखा था कि सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने नवजोत सिंह सिद्धू के सलाहकारों के कश्मीर और पाकिस्तान पर दिए गए बयानों को खारिज किया है, क्योंकि ये घटिया और स्पष्ट रूप से राष्ट्रविरोधी है, जो पंजाब और देश की शांति बिगाड़ सकते हैं। उन्होंने पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष से कहा कि इसस पहले कि वे देश के हितों को और अधिक नुकसान पहुंचाएं, उनपर लगाम लगाएं।

मलविंदर सिंह माली पर इंदिरा गांधी का कथित रूप से विवादित कार्टून सोशल मीडिया पर शेयर करने का भी आरोप है। इसपर हरीश रावत ने कहा कि ‘वह लोकप्रिय नेताओं में एक थीं. हम सब के लिए मां की तरह थीं।अगर उनके बारे में कुछ अपमानित कहा गया है तो हम इसकी निंदा करेंगे, अगर जानकारी इकट्ठा करने पर यह साबित होता है तो कार्रवाई की जाएगी।’ बता दें कि कश्मीर पर मालविंदर सिंह माली के बयान को लेकर भाजपा और अकाली दल ने भी कांग्रेस को घेरा था।



Source