अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति बोले- काबुल हमले के पीछे हो सकता है पाकिस्तान का हाथ

0
47
Article Top Ad


Image Source : AP
‘काबुल हमले के पीछे हो सकता है पाकिस्तान का हाथ’, अफगानिस्तान के पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह का ट्वीट

काबुल: काबुल में कल हुए धमाकों के तार पाकिस्तान से जुड़ते दिख रहे हैं। अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने काबुल अटैक को लेकर पाकिस्तान को कटघरे में खड़ा किया है। सालेह ने ट्वीट कर लिखा है कि तालिबान ने सबकुछ अपने मास्टर यानी पाकिस्तान से ही सीखा है। सालेह ने लिखा कि एयरपोर्ट पर हमला करने वाले आतंकी संगठन आईएस-खुरासन की जड़ें तालिबान और हक्कानी नेटवर्क से जुडी़ हैं। ये पूरी दुनिया जानती है कि हक्कानी नेटवर्क को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI का संरक्षण हासिल है। आईएस और खुरासन काबुल से ऑपरेट कर रहे हैं।

अमरुल्लाह सालेह ने ये भी लिखा कि तालिबान आईएस से अपने जुड़ाव की खबरों को खारिज कर रहा है लेकिन तालिबान ये सब अपने मास्टर यानी पाकिस्तान के इशारे पर कर रहा है। कहने का मतलब ये है कि कल काबुल में जो कुछ हुआ उसके पीछे कहीं न कहीं पाकिस्तान की साजिश सामने आ रही है।

बता दें कि काबुल हवाई अड्डे के बाहर कल हुए बम धमाकों में अमेरिकी सैनिकों समेत 70 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है जबकि सौ से ज्यादा लोग घायल हैं जिनमें से कई की हालत बेहद गंभीर है। इसी बीच धमाकों के बाद व्हाइट हाउस फुल एक्शन में है। तीन ब्लास्ट में अमेरिका के 13 सैनिकों की मौत हुई है जिसके बाद अमेरिका के राष्ट्रपति बाइडेन ने ISIS को धमकी दी है। बाइडेन ने कहा है कि जिन लोगों ने भी इन हमलों को अंजाम दिया है, उन्हें ढूंढकर उनके अंजाम तक पहुंचाया जाएगा।





Source