कनाडा में भारतीय का कत्ल: 23 साल के सिख युवक प्रभजोत की उसके ही फ्लैट में हत्या; दोस्तों का आरोप- यह हेट क्राइम

0
21
Article Top Ad


टोरंटोएक मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

कनाडा में एक 23 साल के भारतीय युवक की हत्या का मामला सामने आया है। सिख मूल के इस युवक का नाम प्रभजोत सिंह कत्री था। पुलिस के मुताबिक, प्रभजोत की हत्या उसके ही अपार्टमेंट में धारदार हथियारों से की गई है। जांच के सिलसिले में चार लोगों को हिरासत में लिया गया था। पूछताछ के बाद सभी को छोड़ दिया गया। प्रभजोत मूल रूप से पंजाब के मोगा जिले का रहने वाला था। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, जिस अपार्टमेंट में प्रभजोत रहता था, उसी अपार्टमेंट के एक हिस्से में उसकी बहन और बहनोई भी रहते थे। प्रभजोत के दोस्तों ने इसे हेट क्राइम का मामला बताया है।

पुलिस को घायल मिला था प्रभजोत
घटना नोवा स्कोटिया प्रांत के ट्रूरो शहर की है। पुलिस अफसर डेविड मैक्नील ने कहा- रविवार और सोमवार की दरमियानी रात करीब 2 बजे पुलिस को घटना की जानकारी मिली थी। जब हम वहां पहुंचे तो प्रभजोत खून से लथपथ थे। हमने उन्हें फौरन अस्पताल पहुंचाया। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इस मामले में चार लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था। फिलहाल, चारों को ही छोड़ दिया गया है। एक व्यक्ति पर करीबी नजर रखी जा रही है। हमने प्रभजोत के दोस्तों और करीबियों से मुलाकात की है। यह घटना हर लिहाज से निंदनीय है।

चार साल पहले आया था कनाडा
प्रभजोत 2017 में कनाडा आया था। सीबीएस न्यूज के मुताबिक, वो यहां टैक्सी चलाने के साथ ही एक रेस्टोरेंट में काम भी करता था। इसके साथ ही वो पोस्ट ग्रेजुएशन की तैयारी कर रहा था। रविवार को प्रभजोत काम से लौटने के बाद घर पर ही था। उसकी हत्या के बाद से यहां के सिख काफी असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। पुलिस और कम्युनिटी लीडर इस मामले को गहराई से समझने की कोशिश कर रहे हैं। दोषियों को सजा जरूर दिलवाई जाएगी।

‘उसका कोई दुश्मन नहीं हो सकता’
प्रभजोत के दोस्त अगमपाल सिंह ने कहा- वो बहुत मेहनती और कम बोलने वाला लड़का था। किसी गलत काम में लिप्त नहीं रहा। उसका कोई दुश्मन हो ही नहीं सकता। लिहाजा, हमें सीधे तौर पर यह हेट क्राइम का मामला लगता है। घटना के बाद यहां सभी दहशत में हैं। उसकी डेडबॉडी भारत भेजने की तैयारी हो चुकी है।

एक और मित्र कुमारदीप ने कहा- इस इलाके में बहुत कम इंटरनेशनल स्टूडेंट्स रहते हैं। सब एक-दूसरे को जानते हैं। इस घटना से सब सकते में हैं। आखिर हम भी इंसान हैं और हमें भी सुरक्षित जीने का हक है। यह रंगभेद की वजह से हत्या का मामला है। उसका कोई सामान चोरी नहीं हुआ। वॉलेट और फोन तक जेब में थे।

खबरें और भी हैं…



Source