एक अनजान कंपनी ने भारत में 36.48 लाख करोड़ रुपये के निवेश की जताई इच्छा, अखबारों में छापा विज्ञापन

0
57
Article Top Ad


मुंबई: यूएस-बेस्ड लैंडोमस रियल्टी वेंचर्स Inc नाम की एक अनजान कंपनी ने भारत में 500 बिलियन डॉलर (36,48,000 करोड़ रुपये) के निवेश की इच्छा जताई है. कंपनी के चैयरमेन प्रदीप कुमार सत्यप्रकाश ने अखबारों में विज्ञापन देकर पीएम मोदी से मिलने का अनुरोध किया है. इस कंपनी की एक पेज की वेबसाइट कहती है कि लैंडोमस रियल्टी वेंचर्स ‘Build India’ की घोषणा कर बहुत खुश है.

लैंडोमस रियल्टी वेंचर्स भारत में नेशनल इंफ्रोस्ट्रक्चर पाइपलाइन (एनआईपी) और गैर-एनआईपी परियोजनाओं (जो इंवेस्ट इंडिया पहल के लिए भारत निवेश ग्रिड के तहत सरकार ने सूचीबद्ध की हैं) में 2 ट्रिलियन डॉलर के निवेश के पहले चरण में इक्विटी के रूप में 500 बिलियन डॉलर का निवेश करना चाहती है.

लैंडोमस रियल्टी वेंचर्स को भेजे गए एक मेल पर कंपनी की कोई प्रतिक्रिया इस खबर के पब्लिश होने तक नहीं मिली है. वहीं प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) तक उसकी टिप्पणी जानने के लिए तुरंत नहीं पहुंचा जा सका.

कंपनी ने इन्हें बनाया है निदेशक और सलाहाकार
कंपनी ने ममता एचएन, यसश प्रदीप कुमार, रक्षित गंगाधर, गुणश्री प्रदीप कुमार को निदेशकों के रूप में सूचीबद्ध किया है. वहीं पामेला केफ, प्रवीण ऑस्कर शिरी, प्रवीण मुरलीधर, एवीवी भास्कर और नवीन सज्जन को सलाहकार के रूप में सूचीबद्ध किया है.

भारत सरकार ने अपनी इंवेस्ट इंडिया पहल के तहत, इंडिया इंवेस्टमेंट ग्रिड (IIG) बनाया है, जो उन नेशनल इंंफ्रोस्ट्रक्चर पाइपलाइन (NIP) और गैर-NIP परियोजनाओं की रूपरेखा तैयार करता है, जिन्हें 2025 तक पूरा होना है और जिनका लक्ष्य नागरिकों को एक क्वालिटी लाइफस्टाइटल देने, भारत को एक ग्लोबल डेस्टिनेश बनाने और 5 ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचना है.

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने दिसंबर 2019 में एनआईपी की घोषणा की थी. सरकार ने वित्त वर्ष 20-25 के लिए एनआईपी के तहत कुल 111 लाख करोड़ रुपये के बुनियादी ढांचे के निवेश का अनुमान लगाया है.

कंपनी की वेबसाइट से मिली जानकारी 
कंपनी की वेबसाइट कहती है, “कोविड महामारी, जीवन और आजीविका के नुकसान के कारण, अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने और रोजगार पैदा करने के लिए एनआईपी और गैर-एनआईपी परियोजनाओं में निवेश करना समय की आवश्यकता है.”

वेबसाइट बताती है कि लैंडोमस रियल्टी वेंचर्स की ‘Build India’ पहल का लक्ष्य 2 ट्रिलियन डॉलर के निवेश के तहत पहले चरण के रूप में इक्विटी में 500 बिलियन डॉलर का निवेश करना और निवेशकों और डेवलपर्स के एनआईपी और गैर-एनआईपी परियोजनाओं को अपने ग्रुप के माध्यम से पूरा करना है.  कंपनी की वेबसाइट यह भी बताती है कि ‘Build India’ का उद्देश्य भारत के नागरिकों को हेल्थ केयर भी देना है ताकि एक कोविड मुक्त और स्वस्थ भारत बनाया जा सके.

Zoominfo की रिपोर्ट्स के अनुसार, कंपनी के 19 कर्मचारी हैं और 5 मिलियन डॉलर का रेवेन्यू है. दूसरी ओर Whois लुकअप से पता चला कि कंपनी की वेबसाइट को यूनाइटेड लैंड बैंक द्वारा 2015 में पंजीकृत किया गया था, जिसका मुख्यालय कर्नाटक के सिवन चेट्टी गार्डन में है.

यह भी पढ़ें: राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना, बोले- वैक्सीनेशन से ही काबू में आएगी महामारी, पर सरकार को इसकी परवाह नहीं



Source