कोरोना की नई ओरल मेडिसिन: अगले हफ्ते से बाजार में मिलेगी डॉ. रेड्डीज की मोलफ्लू, एक कैप्सूल की कीमत 35 रुपए होगी

0
42
Article Top Ad


नई दिल्लीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

भारतीय दवा कंपनी डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरीज COVID-19 की नई दवा लॉन्च करने जा रही है। इस एंटीवायरल कैप्सूल का नाम मोल्नुपिराविर है। इसकी कीमत मैनकाइंड फार्मा की कैप्सूल की कीमत के बराबर होगी। डॉ. रेड्डीज अपने ब्रांड नाम मोलफ्लू के तहत कैप्सूल लॉन्च करेगी। स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने पिछले हफ्ते कहा था कि भारत में कुल 13 कंपनियां मोल्नुपिराविर बनाएंगी।

पूरे कोर्स की कीमत 1400 रुपए
डॉ रेड्डीज के मुताबिक- मोलफ्लू की कीमत 35 रुपए प्रति कैप्सूल होगी। एक स्ट्रिप में 10 कैप्सूल होंगे। मरीज को 5 दिन में 40 कैप्सूल लेने होंगे। ऐसे में पूरे कोर्स की कीमत 1,400 रुपए होगी। ये कोविड-19 मरीजों के लिए उपलब्ध सबसे किफायती ट्रीटमेंट ऑप्शन में से एक है। मोलफ्लू की मैन्युफैकचरिंग USFDA-अप्रूव्ड फैसिलिटी में की जाएगी।

अगले हफ्ते की शुरुआत से मिलेगा मोलफ्लू
डॉ रेड्डीज ने कहा कि मोलफ्लू अगले हफ्ते की शुरुआत से देश भर की फार्मेसियों में उपलब्ध होने की उम्मीद है। इस साल की शुरुआत में, डॉ रेड्डीज ने भारत और 100 से ज्यादा मिडल इनकम वाले देशों में मोल्नुपिराविर मैन्युफैक्चरिंग और सप्लाई के लिए मर्क शार्प डोहमे के साथ नॉन-एक्सक्लूसिव वॉलंटरी लाइसेंसिंग एग्रीमेंट किया था।

13 भारतीय दवा कंपनियां बना रहीं दवा
डॉ, रेड्डीज के अलावा इस दवा को मैनकाइंड फार्मा, टोरैंट फार्मा, सिप्ला, सन फार्मा, नैटको, माइलान और हेटेरो समेत 13 भारतीय दवा कंपनियां बना रही हैं। इकोनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक मैनकाइंड फार्मा की एंटीवायरल कैप्सूल मोलुलाइफ की कीमत भी 35 रुपए होगी। मोलनुपिरविर को कोविड-19 के हल्के से मध्यम मरीजों के उपचार में इस्तेमाल के लिए मंजूरी मिली है।

खबरें और भी हैं…



Source