AGM में बोले अडाणी: भारतीय अर्थव्यवस्था 15 लाख करोड़ डॉलर की होगी, 2040 तक करना होगा इंतजार

0
21
Article Top Ad


  • Hindi News
  • Business
  • Gautam Adani | Gautam Adani On Indian Economy Situation Over Adani Group AGM 2021

मुंबई6 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक
  • जून से ग्रुप की कंपनियों के मार्केट कैप में जमकर गिरावट आई है
  • निवेशकों को इस दौरान 50% तक का घाटा उठाना पड़ा है

अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी ने उम्मीद जताई है कि भारत की अर्थव्यवस्था 15 लाख करोड़ डॉलर की होगी। इसके लिए देश को 2040 तक इंतजार करना होगा। साथ ही यह ग्लोबल मार्केट में बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश बन सकता है।

इंफ्रा पर तेजी से काम हो रहा है

कंपनी की वार्षिक मीटिंग (AGM) में अडाणी ने कहा कि देश में इंफ्रा यानी रोड पर काम तेजी से हो रहा है। मध्यम वर्ग की एक बड़ी जनसंख्या देश में है। साथ ही काम करने वालों की उम्र युवा है और खपत वाली आबादी है। इससे देश की अर्थव्यवस्था पर पॉजिटिव असर दिखेगा। उन्होंने कहा कि देश खपत के साइज में और मार्केट कैप के मामले में दुनिया में बड़ी अर्थव्यवस्था वाले देशों में होगा।

100 अरब डॉलर के मार्केट कैप वाली कंपनी

गौतम अडाणी ने कहा कि हमारे ग्रुप ने इस साल नए वित्त वर्ष के पहले महीने अप्रैल में 100 बिलियन डॉलर यानी 7.50 लाख करोड़ रुपए के मार्केट कैप को पार किया था। ग्रुप की लिस्टेड कंपनियों का प्रदर्शन अच्छा रहा है। यह वैल्यूएशन पहली जनरेशन वाली भारतीय कंपनी के लिए पहली बार हुआ है। इसलिए हमारे पास गर्व करने का एक कारण भी है। उन्होंने कहा कि हमने जो रास्ता तय किया है और जो आगे करेंगे, वह हमारे लिए गर्वान्वित करनेवाला होगा।

हम अपनी कंपनियों के प्रदर्शन और निर्भरता की क्रेडिट कोर वैल्यू को देते हैं, जिसमें हम विश्वास करते हैं। वे वैल्यू ही हमारे उद्देश्यों की नेशन बिल्डिंग को ड्राइव करते हैं।

विदेशी निवेशक के फ्रीज किए जाने की खबर निराधार

अडाणी ने कहा कि हाल में हमारे स्टॉक में विदेशी निवेशकों की होल्डिंग को फ्रीज किए जाने की खबरें आई, जिनसे हमारे छोटे निवेशकों का नुकसान हुआ है। यह खबरें निराधार और गैर जिम्मेदाराना थीं। इससे अडाणी ग्रुप के स्टॉक पर बहुत बुरा असर देखा गया। उन्होंने कहा कि हम लंबे समय पर फोकस करते हैं और हमें विश्वास है कि आगे भी हम अपने निवेशकों और पार्टनर्स के लिए एक वैल्यू का निर्माण करेंगे।

45 हजार करोड़ रुपए का निवेश

पोर्ट से लेकर एनर्जी के सेक्टर तक फैली कंपनियों में विदेशी निवेशकों का करीबन 45 हजार करोड़ रुपए का निवेश है। जून के दूसरे हफ्ते में इस खबर के बाद से ग्रुप के कुल मार्केट कैप में 2.34 लाख करोड़ रुपए की कमी आई है। साथ ही स्टॉक में 20-40% तक की गिरावट आई है। 59 वर्षीय अडाणी को इन खबरों के चलते दुनिया भर के अमीर बिजनेसमैन की रैंकिंग में भी घाटा हुआ। वे अब 21 वें नंबर पर हैं। जबकि खबरों से पहले वे 14 वें नंबर के सबसे अमीर बिजनेसमैन थे।

लंबी अवधि के विजन पर कोई असर नहीं

उन्होंने कहा कि इस तरह की खबरों से हमारे लंबी अवधि के विजन पर कोई असर नहीं होगा। हम हमेशा चुनौतियों से पार पाने में विश्वास रखते हैं। हर चुनौती हमें और मजबूत बनाती है। ग्रुप की कुल 6 लिस्टेड कंपनियां हैं। इसमें ग्रीन एनर्जी, पोर्ट, ट्रांसमिशन, पावर और अन्य कंपनियां हैं।

खबरें और भी हैं…



Source