डिलीवरी के वक्त नीना गुप्ता थी आर्थिक तंगी से परेशान, अकाउंट में थे मात्र 2000 

0
20
Article Top Ad



डिजिटल डेस्क,मुंबई। बॉलीवुड की सीनियर एक्ट्रेस नीना गुप्ता ने अपना नाम बनाने में बहुत मेहनत की है। उनका संघर्ष काफी लंबा चला है। इसके बावजूद उन्होंने हार नहीं मानी और जिंदगी से लड़ते रही। आखिरकार एक वक्त ऐसा आया जब हिंदी सिनेमा में नीना गुप्ता को शिखर की बुलंदिया हासिल हुई और आज उनका नाम इंडस्ट्री में सभी जानते है। 61 वर्षीय नीना ने अपनी ऑटोबायोग्राफी में खुद की जिंदगी को लेकर कई अहम खुलासे किए है। उनकी ऑटोबायोग्राफी का नाम हैं ‘सच कहूं तो’। इसके कुछ पेज को उनकी बेटी मसाबा ने अपने ऑफिशियल इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया है, जिसमें नीना ने अपनी डिलीवरी को लेकर बताया हैं कि, जब वो मां बनने वाली थी और मसाबा को जन्म होने वाला था तो उस वक्त उनके पास डिलीवरी कराने के लिए मात्र 2000 रु. थे। 

मसाबा ने कुछ पन्नों की तस्वीरें शेयर करते हुए लिखा कि, ये अनएक्सेपटेड था @नीना_गुप्ता द्वारा ‘सच कहूं तो’ का एक अंश…. जब मैं पैदा हुई थी, मेरी मां के बैंक खाते में 2000/- रुपये थे। एक समय के बाद उनके खातें में 9000 रुपए का टैक्स रिम्बर्समेंट आया था। और निश्चित रूप से मैं सी-सेक्शन की बच्ची थी। जब मैं माँ की जीवनी पढ़ती हूँ तो मुझे बहुत सी चीजें और कठिनाइयाँ सीखने को मिलती हैं, जिन्हें उन्होंने झेला है। मैं अपने जीवन के हर एक दिन बहुत मेहनत करती हूं और कभी भी किसी को मुझे वो नहीं देने देती, जिसके मैं योग्य हूं। साथ ही सुनिश्चित करती हू कि, मुझे इस दुनिया में लाने के लिए क्या मैं उनका वापस भुगतान कर सकती हूं ….. ब्याज के साथ!

हिंदी सिनेमा में कमाल की एक्टिंग करने वाली नीना गुप्ता ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘सच कहूं तो’ में लिखा कि, वो अपनी बेटी मसाबा की डिलीवरी के वक्त सिर्फ नॉर्मल डिलीवरी का खर्च उठाने की क्षमता रखती थी। क्योंकि उनके बैंक अकाउंट में मात्र 2000 रु. ही थे, लेकिन डॉक्टर ने उन्हें सी-सेक्शन डिलीवरी कराने के लिए कहा और भगवान की कृपा से मेरे अकाउंट में 9000 रुपए का टैक्स रिम्बर्समेंट आ गया है और किस्मत से उस समय सी-सेक्शन की सर्जरी के लिए 10 हजार का खर्च आता था और टैक्स रिम्बर्समेंट के बाद मुझे डिलीवरी कराने में काफी मदद मिल गई। नीना ने ये भी बताया कि, इस बात को लेकर उनके पिता काफी गुस्से में थे क्योंकि उन्हें लग रहा था कि, डॉक्टर्स नीना से जानबूझकर पैसे लेने के लिए सी-सेक्शन सर्जरी कराने को कह रहे है। 

बता दें कि, नीना गुप्ता बिना शादी के मां बनी है। जी हां, आम भारतीय कल्चर में ऐसा होता नहीं हैं लेकिन ऐसा नीना गुप्ता की जिंदगी में हुआ है। नीना गुप्ता और वेस्ट इंडीज के पूर्व क्रिकेटर विवियन रिचर्ड 80 के दशक में एक-दूसरे के काफी करीब आए थे। दोनों में प्यार हुआ और नीना गुप्ता बगैर शादी के प्रेग्नेंट हो गई और उन्होंने बेटी मसाबा को जन्म देने का फैसला किया। 





Source