दिल्‍ली में कोरोना से मरने वाले ज्‍यादातर कैंसर या हार्ट पेशेंट, अब सरकार ने दिया ये आदेश

0
8
Article Top Ad


नई दिल्‍ली. पिछले कुछ दिनों से कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोत्‍तरी हुई है. हालांकि पिछले दो दिनों में सर्वाधिक मामलों से कुछ कम मामले भी दर्ज हुए हैं लेकिन मौतों का आंकड़ा भी अब धीरे-धीरे बढ़ रहा है. राजधानी में कोरोना से मरने वाले ज्‍यादातर लोगों में कोमोरबिड मरीज (Comorbidities) शामिल हैं लिहाजा दिल्‍ली सरकार ने इन मरीजों के इलाज के लिए नया आदेश जारी किया है. राज्‍य सरकार की ओर से कहा गया है कि दिल्‍ली में दिसंबर के आखिरी सप्‍ताह से लेकर जनवरी के शुरुआत के आंकड़े बताते हैं कि पिछले कुछ दिनों में कोरोना से 70 मौतें हुई हैं. इनमें अधिकांश कैंसर (Cancer), दिल (Heart) या लिवर (Liver) की बीमारी से जूझ रहे मरीज शामिल हैं.

कोमोरबिड मरीजों की मौतों के आंकड़े को देखते हुए दिल्‍ली सरकार ने राज्‍य के सभी अस्‍पतालों के मेडिकल डायरेक्‍टर्स और मेडिकल सुप्रिटेंडेंट को आदेश जारी किया है. जिसमें कहा गया है कि सभी अस्‍पतालों में कोविड मरीजों (Corona Patients) को भर्ती करने में प्रोटोकॉल के पालन से लेकर उनकी देखभाल, इलाज में प्रोटोकॉल का पालन करने के साथ ही कोरोना से होने वाली मौतों का विश्‍लेषण किया जाए. इतना ही नहीं अगर कोई कोमोरबिड या किसी भी गंभीर बीमारी से जूझ रहा मरीज कोविड पॉजिटिव (Covid Positive) पाया जाता है या कोविड पॉजिटिव होने पर अस्‍पतालों में लाया जाता है तो उसकी देखभाल और इलाज का विशेष ध्‍यान रखना होगा.

हाल ही में दिए गए इस आदेश में कहा गया है कि अस्‍पताल में भर्ती कोविड पॉजिटिव और गंभीर बीमारी से जूझ रहे मरीज को दो लोगों के द्वारा देखा जाएगा. इनमें कोविड वार्ड के डॉक्‍टरों के अलावा उस गंभीर रोग का विशेषज्ञ शामिल होगा, जिस रोग से मरीज जूझ रहा है. इस आदेश के आने के बाद स्‍वास्‍थ्‍य विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसा गंभीर बीमारियों के मरीजों को देखने के बाद किया गया है. यह स्‍पष्‍ट है कि कोरोना पॉजिटिव होने के बाद मरीज किसी भी बीमारी का हो उसे कोविड वार्ड में ही शिफ्ट किया जाता है, ऐसे में यह भी जरूरी है कि अगर वह किसी अन्‍य गंभीर रोग से पीड़‍ित है तो उसे उस बीमारी का भी साथ-साथ इलाज मिले. ऐसे में यह एक जरूरी आदेश है.

Tags: Cancer, Corona in Delhi, Corona Virus, Heart attack



Source