विटामिन और खनिज की कमी से शरीर में दिखते हैं ये लक्षण

0
38
Article Top Ad


Multi Vitamin Deficiency: आजकल की लाइफस्टाइल में लोगों के भोजन से हेल्दी चीजें गायब होती जा रही हैं. ऐसे में शरीर में कई तरह के विटामिन और खनिज की कमी ( Vitamin and Minerals Deficiency) होने लगी है. कई तरह के सप्लीमेंट्स लेने के बाद भी शरीर में कुछ न कुछ कमी बनी रहती है. कोरोनाकाल ( Corona Virus) में ये समस्या और ज्यादा बढ़ गई है. ज्यादातर लोगों में विटामिन और मिनिरल्स की कमी पाई जाने लगी है. हालांकि आप अपने खान-पान का ख्याल रखें तो इसकी कमी से बचा जा सकता है. आपको ऐसी संतुलित डाइट (Diet) लेनी चाहिए जिससे सभी विटामिन और मिनिरल्स की कमी को पूरा किया जा सके. आप शरीर में दिखने वाले कई लक्षणों से विटामिन और खनिज की कमी होने का पता लगा सकते हैं. जानते हैं शरीर में विटामिन्स की कमी होने पर सबसे पहले कौन से लक्षण नजर आते हैं. 

नाखून कमजोर होना- शरीर में विटामिन्स और मिनिरल्स की कमी होने पर कई तरह की समस्याएं नज़र आने लगती हैं. ऐसी स्थिति में आपके नाखून कमजोर हो जाते हैं और टूटने लगते हैं. अगर आपके साथ भी ऐसी समस्या हो रही है तो अलर्ट हो जाएं. आपके शरीर में बायोटिन यानि विटामिन बी 7 की कमी हो सकती है. ये विटामिन बी 7 शरीर में मौजूद आहार को ऊर्जा में बदलता है. ऐसे में आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. 

बाल झड़ना- अगर आपके बाल ज्यादा झड़ रहे हैं तो समझिए शरीर में विटामिन्स की कमी हो रही है. बालों की ज्यादा झड़ने की समस्या आयरन, जिंक, अल्फा लिनोलेनिक एसिड और लिनोलिक एसिड, नियासिन (विटामिन बी3) और विटामिन बी7 की कमी से होती है. अगर आपके बाल जरूरत से ज्यादा झड़ने लगे हैं तो आपको लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. आपको तुरंत डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

मुंहासे होना- बीटा कैरोटीन यानि विटामिन ए की कमी होने पर मुहांसे होने लगते हैं. इससे इम्यूनिटी, स्किन हेल्थ, आईसाइट, प्रजनन क्षमता और कोशिकाओं का आपस में संपर्क बनाने में मदद मिलती है. विटामिन ए की कमी से चेहरे पर मुंहासे होने लगते हैं. इसके अलावा रतौंधी, त्वचा में रुखापन, बाल रुखे होना, गाल, हाथ और पैरों पर लाल या सफेद दाने होने लगते हैं. इसके अलावा कलर ब्लाइंडनेस, आंखों में इंफेक्शन, नाखूनों पर धारियां होना भी विटामिन ए की कमी के संकेत हैं. इसके लिए आपको डाइट में गाजर, हरी सब्जियां, कद्दू, पहाड़ी खरबूजा, लाल, पीला और नारंगी रंग के शिमला मिर्च, शकरकंद, खुबानी और मेवा शामिल करने चाहिए. 

मांसपेशियों में सिकुड़न- शरीर में मैग्नीशियम की कमी होने पर मांसपेशियों में सिकुड़न होने लगती है. इससे आपकी हार्टबीट में अंतर, मांसपेशियों में ऐंठन, पैर और उंगलियों में सुन्न और झुनझुनी होने जैसी समस्याएं होने लगती हैं. इसके अलावा ज्यादा गर्मी लगना, टेंशन, हाई बीपी, पैरों में बेचैनी और मितली आने की समस्या होने लगती है. इसके लिए आप डाइट में नट्स, बीज, सोयाबीन, साबुत अनाज, हरी पत्तेदार सब्जियां,  डेयरी प्रोडक्ट, एवोकाडो, केला और डार्क चॉकलेट खा सकते हैं.

त्वचा में रूखापन- ठंड में लोगों की त्वचा कापी रूखी रहती है लेकिन अगर आपकी त्वचा हर मौसम में ज्यादा रूखी रहती है, तो ये चिंता का विषय है. आपकी डाइट में कहीं न कहीं तेल और मॉइस्चर की कमी हो रही है. आपको खाने में औषधीय तेल वाली चीजें शामिल करनी चाहिए. इसके लिए आप भोजन में ओमेगा-3 फैटी एसिड शामिल करें. इससे आपकी स्किन अंदर से मॉइस्चराइज होगी और  डिटॉक्स भी होगी. 

ये भी पढ़ें: वजन घटाने का सबसे असरदार नुस्खा, रोज सुबह पीएं मेथी का पानी, जानिए इस्तेमाल का सही तरीका

Check out below Health Tools-
Calculate Your Body Mass Index ( BMI )

Calculate The Age Through Age Calculator



Source