पीएम मोदी की सुरक्षा चूक पर CM की दो टूक: प्रधानमंत्री पर कोई हमला नहीं हुआ; शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर गोली नहीं चला सकता

0
40
Article Top Ad


चंडीगढ़8 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

चंडीगढ़ के पंजाब भवन में पत्रकारों से बात करते सीएम चरणजीत चन्नी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा चूक पर CM चरणजीत चन्नी ने कहा कि पीएम पर कोई हमला नहीं हुआ है। उनकी सुरक्षा में कोई चूक भी नहीं हुई, इसलिए किसी अफसर पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शनकारियों पर मैं लाठी-गोली नहीं चला सकता।

सीएम चन्नी ने कहा कि पीएम का सारा कार्यक्रम हवाई मार्ग से था लेकिन अचानक उनकी सुरक्षा एजेंसियों ने इसे सड़क मार्ग से कर दिया। रास्ते में कुछ प्रदर्शनकारी आ गए और उन्होंने ट्रैक्टर ट्रॉली लगाकर रोड जाम कर दी। इसके बावजूद अगर उन्हें लगता है कि सुरक्षा में चूक हुई है तो हम इसकी जांच करवा लेंगे। फिलहाल किसी भी अफसर के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

मुझे खुद जाना था, कोरोना की वजह से नहीं आया

CM चरणजीत चन्नी ने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि हम प्रधानमंत्री का सम्मान करें। मैं खुद उन्हें रिसीव कर साथ जाना था। फिरोजपुर जाकर मीटिंग भी अटैंड करनी थी। कल मेरे ऑफिस के कुछ कर्मचारियों का कोरोना टेस्ट करवाया तो हमारे प्रिंसिपल सेक्रेटरी और पीए कोरोना पॉजिटिव आ गए। इस वजह से मैं अपनी जिम्मेदारी समझते हुए वहां नहीं गया।

पीएम ऑफिस ने कहा- वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़ जाएं

मैंने इस बारे में कैबिनेट से भी चर्चा की। उनके कहे मुताबिक मैंने पीएम ऑफिस को बताया कि मैं आऊं या नहीं। वहां से मुझे लिखित में आया कि आप वीसी में जुड़ जाओ। इसलिए मैंने वित्तमंत्री मनप्रीत बादल को वहां भेजा। मैंने डिप्टी सीएम और फिरोजपुर के विधायक की ड्यूटी लगाई कि वह फिरोजपुर में पीएम का स्वागत करें।

रात 3 बजे तक किसानों को हटाया

कल मुझे गृहमंत्री का फोन आया कि भाजपा वर्करों को रोका जा सकता है। उन्हें तुरंत हटाओ। मैंने उन्हें हर एहतियात बरतने का भरोसा दिया था। हमने रात को 3 बजे तक कोशिश कर जितने भी किसान सड़कों पर बैठे थे, उन्हें उठाया। 5 दिन से केंद्र की एजेंसियां IB, SPG और पीएम सिक्योरिटी फिरोजपुर में आ गई थी। वह हर चीज को मॉनीटर कर रही थी। सब काम उन्होंने ही संभाला हुआ था। इसलिए उन्होंने भी साथ में मिलकर काम किया और 3 बजे तक रास्ते खाली करा दिए।

IB डायरेक्टर ने रात को फोन नहीं उठाया

रात डेढ़ बजे चीफ सेक्रेटरी ने कहा कि सीएम ऑफिस गारंटी दिलाए कि पीएम उनके साथ मीटिंग करेंगे। मैंने डीसी के जरिए लिखकर देने को कहा। इसके बाद किसानों ने रास्ते खाली कर दिए। इसके बाद रात पौने 2 बजे इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के डायरेक्टर को फोन किया। उन्होंने फोन नहीं उठाया। सुबह साढ़े 6 बजे उनकी कॉल आई। उनके साथ चर्चा हुई और पूरी जानकारी दी।

हमने रैली के लिए रास्ते खुलवाए थे ताकि किसी को असुविधा न हो। जो किसान प्रदर्शन कर रहे थे, उन्हें पीएम से मीटिंग का टाइम दिलवाने की सहमति बन चुकी थी। सुबह पीएम का प्रोग्राम आया था कि उसमें सिटिंग अरेंजमेंट भी वहीं से आया था। हेलीकॉप्टर में कौन-कौन बैठेगा।

PM को हवाई मार्ग से जाना था, बारिश में भी हेलिकॉप्टर उड़ने की बात कही थी

बठिंडा से फिरोजपुर हवाई मार्ग से जाना था। इसके लिए 3 हैलीपेड फिरोजपुर में बनाए गए थे ताकि पीएम कहीं भी उतर सकें। हमने बारिश की भी बात कही थी और प्रोग्राम कैंसिल करने को कहा था। हमें भरोसा दिया गया था कि हेलीकॉप्टर बारिश में उड़ेगा। सीएम चन्नी ने कहा कि हमें भेजे प्रोग्राम के मुताबिक 9.30 बजे सुबह पीएम को दिल्ली से उड़ना था। उन्हें 10.25 बजे पर बठिंडा एयरपोर्ट पहुंचना था। इसके 5 मिनट बाद 10.30 बजे बठिंडा से एमआई 17 हेलीकॉप्टर से 11.05 बजे फिरोजपुर पर पहुंचना था।

राजनीति नहीं की जानी चाहिए

सीएम चन्नी ने कहा कि शांतिपूर्ण धरने को पीएम की सुरक्षा से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। इसमें राजनीति नहीं होनी चाहिए। पीएम की सुरक्षा या शान में खतरे जैसी कोई बात नहीं है। सड़क मार्ग से जाना पहले से तय नहीं था। उन्होंने कहा कि हमें खेद है कि पीएम को वापस जाना पड़ा।

खबरें और भी हैं…



Source