पीएम मोदी ने ब्लैक फंगस को लेकर जताई चिंता, कहा कोरोना से करनी है लंबी लड़ाई

0
41
Article Top Ad



डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट के बीच राज्यों के मुख्यमंत्रियों तथा शीर्ष अधिकारियों के साथ चर्चा करने के बाद अब फील्ड में काम करने वालों का भी हौसला बढ़ा रहे हैं। उन्होंने शुक्रवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के डॉक्टरों से सीधा संवाद किया। इस दौरान पीएम ने कोरोना की दूसरी लहर की स्थिति जानने के साथ ही तीसरी लहर की तैयारी की जानकारी ली और अपने सुझाव भी दिए। इस दौरान वाराणसी के जनप्रतिनिधि तथा प्रशासनिक अधिकारी भी मौजूद रहे। 

पीएम मोदी ने कहा कि, मैं काशी का एक सेवक होने के नाते हर एक काशीवासी का धन्यवाद देता हूं। विशेष रूप से हमारे डॉक्टर्स, नर्सेस और अन्य स्वास्थ्यकर्मियों ने जो काम किया, वो सराहनीय है। डॉक्टरों से बात करते हुए पीएम मोदी भावुक हो गए। पीएम ने कहा कि, इस वायरस ने हमारे कई अपनों को हमसे छीना है, मैं उन सभी लोगों को अपनी श्रद्धांजलि देता हूं, उनके परिजनों के प्रति सांत्वना व्यक्त करता हूं।

देश में कम हुई कोरोना मरीजों की संख्या, 24 घंटे में सामने आए 2.59 लाख नए मामले

उन्होंने कहा कि, बनारस ने जिस स्पीड से इतने कम समय में ऑक्सीजन और आईसीयू बेड्स की संख्या कई गुना बढ़ाई है, जिस तरह से इतनी जल्दी पंडित राजन मिश्र कोविड अस्पताल को सक्रिय किया है, ये भी अपने आपमें एक उदाहरण है। पीमए ने कहा कि, आपके तप से, और हम सबके साझा प्रयासों से महामारी के इस हमले को आपने काफी हद तक संभाला है। लेकिन अभी संतोष का समय नहीं है। हमें अभी एक लंबी लड़ाई लड़नी है। 

पीएम मोदी ने कहा कि, अभी हमें बनारस और पूर्वांचल के ग्रामीण इलाकों पर भी बहुत ध्यान देना है। उन्होंने कहा कि, जहां बीमार वहीं उपचार’, इस सिद्धांत पर माइक्रो-कंटेनमेंट ज़ोन बनाकर जिस तरह आप शहर एवं गावों में घर घर दवाएँ बाँट रहे हैं, ये बहुत अच्छी पहल है। इस अभियान को ग्रामीण इलाकों में जितना हो सके, उतना व्यापक करना है।

क्या है सेल्फ टेस्टिंग कोविड-19 किट, इसका उपयोग कौन और कैसे कर सकता है?

कोविड के खिलाफ गांवों में चल रही लड़ाई में आशा और ANM बहनों की भी भूमिका बहुत अहम है। उन्होंने कहा कि, मैं चाहूँगा कि इनकी क्षमता और अनुभव का भी ज्यादा से ज्यादा लाभ लिया जाए। सेकंड वेव में हमने वैक्सीन की सुरक्षा को भी देखा है। वैक्सीन की सुरक्षा के चलते काफी हद तक हमारे फ्रंट लाइन वर्कर्स सुरक्षित रहकर लोगों की सेवा कर पाए हैं। यही सुरक्षाकवच आने वाले समय में हर व्यक्ति तक पहुंचेगा। हमें अपनी बारी आने पर वैक्सीन जरूर लगवानी है।

पीएम मोदी ने कहा कि, हमारी इस लड़ाई में अभी इन दिनों ब्लैक फंगस की एक और नई चुनौती भी सामने आई है। इससे निपटने के लिए जरूरी सावधानी और व्यवस्था पर ध्यान देना जरूरी है।
 



Source