मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ: टूलकिट केस में ट्विटर के ऑफिस पहुंची दिल्ली पुलिस, सरकार की इमेज सुधारने मोदी-शाह के साथ संघ की मीटिंग और बाबा रामदेव का फिर एलोपैथी पर हमला

0
36
Article Top Ad



  • Hindi News
  • National
  • Dainik Bhaskar Top News Headlines; Delhi Police Reaches Twitter’s Office To Investigate In The Toolkit Case To RSS Meeting With Modi And Shah To Improve Government’s Image And Baba Ramdev Attacked The Allopathy Once Again And More

एक घंटा पहले

नमस्कार!
UP में AK शर्मा को क्या जिम्मेदारी मिल सकती है? बंगाल हिंसा की जांच के लिए किसने लिखी राष्ट्रपति को चिट्ठी? कोरोना की तीसरी लहर में क्या है बच्चों से जुड़ी अच्छी खबर? आज सुबह हम ऐसी ही खास खबरें आपके लिए लेकर आए हैं। तो चलिए शुरू करते हैं मॉर्निंग न्यूज ब्रीफ…

  • सबसे पहले देखते हैं बाजार क्या कह रहा है..
  • BSE का मार्केट कैप पहली बार 218.94 लाख करोड़ रुपए हुआ। एक्सचेंज पर 57% कंपनियों के शेयरों में बढ़त रही।
  • 3,386 कंपनियों के शेयरों में ट्रेडिंग हुई। इसमें 1,925 कंपनियों के शेयर बढ़े और 1,290 कंपनियों के शेयर गिरे।

आज इन इवेंट्स पर रहेगी नजर..

  • भारत सरकार की नई सोशल मीडिया गाइडलाइन्स कंप्लायंस की समय सीमा खत्म होगी। फेसबुक, ट्विटर और वॉट्सऐप पर इसका असर पड़ेगा।
  • USA में पुलिस की हिंसा में मारे गए जॉर्ज फ्लॉयड (ब्लैक लाइव्स मैटर) की मौत को 1 साल पूरा हो रहा है। कई शहरों में प्रदर्शन हो सकते हैं।
  • समुद्री तूफान यास पश्चिम बंगाल में सक्रिय होगा। इसके असर से तेज आंधी और बारिश होने की संभावना है। वहीं, आज से नौतपा भी शुरू हो रहे हैं।

देश-विदेश

ट्विटर के दो ऑफिस में पहुंची दिल्ली पुलिस
टूलकिट मामले की जांच के लिए सोमवार शाम दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की दो टीमें ट्विटर के ऑफिस पहुंचीं। पहले एक टीम दिल्ली में लाडो सराय के दफ्तर पहुंची। इसके बाद दूसरी टीम गुड़गांव के ऑफिस पहुंच गई। हालांकि, लाडो सराय के ऑफिस में कोई नहीं मिला। ऑफिस बंद था। इस वजह से टीम बिना जांच किए लौट गई। इस मामले में दिल्ली पुलिस का कहना है कि हमारी टीम ट्विटर के ऑफिस नोटिस देने गई थी। यह एक रूटीन प्रोसेस है। यह जरूरी था, क्योंकि हम यह जानना चाहते थे कि नोटिस देने के लिए सही व्यक्ति कौन है। ट्विटर इंडिया के MD के जवाब बहुत अस्पष्ट हैं।

UP के लिए संघ की मोदी-शाह के साथ बैठक
कोरोना संकट की दूसरी लहर और उसको लेकर केंद्र में मोदी सरकार पर चौतरफा हमले ने संघ और बीजेपी नेतृत्व की नींद उड़ा दी है। आठ महीने बाद होने वाले यूपी विधानसभा चुनावों को लेकर संघ लीडरशिप का मानना है कि किसी भी हाल में यूपी में बीजेपी की सरकार दोबारा आनी चाहिए। उसके लिए छवि सुधारने के साथ सिस्टम को बेहतर बनाना होगा। संघ और बीजेपी लीडरशिप के बीच रविवार को एक अहम बैठक भी हुई। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ आरएसएस के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले और उत्तरप्रदेश के प्रभारी सुनील बंसल शामिल हुए। इसी में छवि और सिस्टम सुधारने पर रणनीति बनी।

UP में AK शर्मा हो सकते हैं डिप्टी CM
भाजपा और संघ के बीच दिल्ली में हुई हाई लेवल मीटिंग के बाद अब उत्तर प्रदेश में बड़े बदलाव के कयास लगाए जा रहे हैं। ऐसा इसलिए भी, क्योंकि मीटिंग से पहले ही उत्तर प्रदेश में कोरोना के हालात को लेकर केंद्रीय मंत्री, UP सरकार के मंत्री और दूसरे नेता चिट्ठी लिख चुके हैं। अब कयास लग रहे हैं कि प्रधानमंत्री मोदी के करीबी पूर्व आईएएस और मौजूदा एमएलसी एके शर्मा को डिप्टी सीएम बनाया जा सकता है। इस चर्चा की वजह भी है। पूर्वांचल और बनारस में शर्मा के कोविड मैनेजमेंट की मोदी ने खुद तारीफ की थी।

CBI के नए बॉस का चुनाव जल्द
CBI के नए डायरेक्टर के लिए नामों पर चर्चा शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सोमवार को हुई मीटिंग में नए डायरेक्टर के लिए तीन नामों को शॉर्ट लिस्ट किया गया। इस पैनल में भारत के चीफ जस्टिस एनवी रमना और लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश के DGP एचसी अवस्थी, SSB के DG कुमार राजेश चंद्रा और गृह मंत्रालय के विशेष सचिव वीएसके कौमुदी में से कोई CBI का डायरेक्टर चुना जाएगा। यह पद फरवरी से खाली है।

फिर शुरू हुआ योगगुरु का हठयोग
स्वामी रामदेव ने सोमवार शाम करीब 6 बजे अपने ट्विटर एकाउंट पर एक पन्ने की चिट्‌ठी जारी की। इसमें उन्होंने एक बार फिर एलोपैथ को निशाने पर लेते हुए IMA और फार्मा कंपनियों से 25 सवाल पूछ डाले। 22 मई को योग गुरु बाबा रामदेव ने कहा था कि ‘एलोपैथी बकवास विज्ञान है’। इस पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने सख्त नाराजगी जताई। रविवार को स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी रामदेव के बयान को गलत बताते हुए दो पन्नों की चिट्‌ठी लिख डाली। इसके बाद बाबा ने सोशल मीडिया पर एक पत्र जारी कर बयान वापस ले लिया। अभी 20 घंटे ही बीते थे कि बाबा का हठ योग फिर से शुरू हो गया।

बंगाल हिंसा की जांच के लिए राष्ट्रपति को ज्ञापन
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के बाद हिंसा की घटनाओं की जांच कराने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास एक ज्ञापन भेजा गया है। इस पर पूर्व जजों और रिटायर्ड अफसरों समेत कुल 146 लोगों के दस्तखत हैं। इनका कहना है कि इन घटनाओं की जांच SIT से कराई जाए और इसकी निगरानी का जिम्मा सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जस्टिस को दिया जाए। ज्ञापन में कहा गया है कि पश्चिम बंगाल सीमा से सटा संवेदनशील राज्य है। यहां देश की संस्कृति और अखंडता को नुकसान पहुंचाने वाली घटनाओं की जांच NIA के हवाले की जानी चाहिए।

साइक्लोन यास से बचाव की तैयारी
साल का दूसरा चक्रवाती तूफान ‘यास’ पश्चिम बंगाल और ओडिशा की तरफ आगे बढ़ रहा है। 26 मई की शाम तक इस चक्रवाती तूफान के राज्य के उत्तरी ओडिशा के पारादीप और पश्चिम बंगाल के सागर आइलैंड से टकराने की संभावना है। मौसम विभाग (IMD) ने यास को बहुत गंभीर चक्रवात की श्रेणी में शामिल किया है। इसका असर पश्चिम बंगाल, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और अंडमान निकोबार द्वीप समूह में दिख सकता है। पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना और पूर्वी मिदनापुर में निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने का काम शुरू हो गया है।

वैक्सीनेशन रूल्स में बड़ा बदलाव
सरकार ने वैक्सीनेशन के नियमों में बदलाव किया है। इससे 18-44 एज ग्रुप के लोगों को काफी राहत मिलेगी। अब इस एज ग्रुप के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट की जरूरत नहीं। नए नियम के मुताबिक, ये लोग वैक्सीनेशन सेंटर्स पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे और अपॉइंटमेंट ले सकेंगे। ये सुविधा फिलहाल सरकारी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर दी जाएगी। ऐसा वैक्सीन की बर्बादी रोकने के लिए किया जा रहा है।

आंकड़ों में वैक्सीनेशन का फेर
देश में वैक्सीन का गणित उलझता जा रहा है। सरकारी आंकड़ों में वैक्सीन की संख्या पर्याप्त बताई जा रही है, लेकिन इनका आवंटन काफी कम है। सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में बताया कि करीब 8.5 करोड़ वैक्सीन डोज हर महीने बनाई जा रही है, लेकिन मई के शुरुआती तीन हफ्तों में केवल 3.6 करोड़ वैक्सीन ही दी गई हैं।

पॉलिसी में उलझी वैक्सीन सप्लाई
देश में कोरोना वैक्सीन की कमी के बीच विदेश से इसकी सप्लाई नियमों में फंस गई है। अमेरिकी कंपनी फाइजर का कहना है कि वह सिर्फ केंद्र सरकार को वैक्सीन सप्लाई करेगी। उधर, केंद्र सरकार का कहना है कि फाइजर के साथ मॉडर्ना हमारे संपर्क में है। कई राज्य सरकारों के मुताबिक उन्होंने भी फाइजर और मॉडर्ना से संपर्क किया था, लेकिन उन्हें जवाब मिला कि वे सिर्फ केंद्र सरकार से ही डील करेंगी।

कोरोना में बच्चों को लेकर राहत भरी खबर
कोरोना की स्थिति पर सोमवार को स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें एम्स के डायरेक्टर डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि हमने कोरोना की पहली और दूसरी लहर में देखा कि बच्चों में संक्रमण बहुत कम देखा गया है। इसलिए अब तक ऐसा नहीं लगता कि तीसरी लहर में बच्चों में संक्रमण देखा जाएगा। कहा जा रहा है कि बच्चे सबसे ज्यादा संक्रमित होंगे, लेकिन पेडियाट्रिक्स एसोसिएशन ने कहा है कि यह फैक्ट पर आधारित नहीं है। इसका असर बच्चों पर न पड़े, इसलिए लोगों को डरना नहीं चाहिए।

कोरोना के इंडियन वैरियंट पर बवाल
MP के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के वैश्विक महामारी कोरोना को ‘इंडियन कोरोना’ बताने वाले बयान पर सियासत तेज हो गई है। इसको लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कमलनाथ के बयान के बाद सोनिया गांधी धृतराष्ट्र बन कर तमाशा क्यों देख रही हैं? इधर, कमलनाथ ने भी पलटवार करते हुए कहा है कि एफआईआर के बाद मैं चुप नहीं बैठूंगा।

सुशील कुमार का विवादों से नाता
छत्रसाल स्टेडियम में जूनियर गोल्ड मेडलिस्ट पहलवान सागर राणा की हत्या के मामले में गिरफ्तार किए गए ओलिंपिक मेडलिस्ट सुशील कुमार का विवादों से पुराना नाता रहा है। सुशील से विवाद की वजह से ही ओलिंपिक मेडलिस्ट योगेश्वर दत्त और वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में मेडल जीतने वाले बजरंग पूनिया और कई रेलसिंग कोच छत्रसाल स्टेडियम छोड़कर चले गए।

बिहार में पोस्टर वाली सियासत
बिहार की राजधानी पटना में एक ब्लैक एंड व्हाइट पोस्टर चिपकाया गया है। पोस्टर में किसी की तस्वीर नहीं है। सिर्फ इतना ही लिखा है – ‘नीतीश बाबू….आपके निकम्मेपन की कीमत जनता कब तक चुकाएगी?’ यह पोस्टर किसकी ओर से चिपकाए गए हैं, पता नहीं चल पाया है। पोस्टर में किसी राजनीतिक पार्टी या संस्था का नाम भी नहीं है।

चार दशक बाद सबसे बड़ा रेस्क्यू मिशन
चक्रवाती तूफान ‘ताऊ ते’ के चलते समुद्र में फंसे लोगों को निकालने के लिए तटरक्षक बल और नेवी ने 4 दशक का अब तक का सबसे मुश्किल बचाव अभियान चलाया। इस अभियान में कुल मिलाकर आठ नौसैनिक जहाज, नौसेना के आठ तत्काल सहायक जहाज, 9 नौसैनिक हेलिकॉप्टर, 3 नौसैनिक टोही विमान, 5 तटरक्षक जहाज, 2 तटरक्षक हेलिकॉप्टर और 2 तटरक्षक डोर्नियर विमान खोज के लिए तैनात थे। ONGC ने बचे लोगों की तलाश के लिए पांच हेलिकॉप्टर भी तैनात किए थे।

जिसकी जान ली, उसी ने दी नई जिंदगी
इजराइल- हमास की जंग की एक कहानी इन दिनों लोगों को इंसानियत का सबक सिखा रही है। ये कहानी है उस इजराइली की, जिसे फिलिस्तीनियों ने संगसार कर दिया। यानी पत्थरों से मार डाला। आज उसी इजराइली की किडनी ने एक अरब महिला रान्दा को नई जिंदगी बख्श दी है। दंगों के समय 56 साल के यीगल होशुआ को एक जगह अरब मूल के लोगों ने घेर लिया। उन पर बेइंतहां पत्थर बरसाए गए। यीगल तो इस दुनिया से चले गए, लेकिन जाते-जाते रान्दा को फिर मुस्कराने की वजह दे गए।

सुर्खियों में और क्या है..

  • भारत बायोटेक कोवैक्सिन का बच्चों पर ट्रायल जून में शुरू कर सकती है। कंपनी को 2 से 18 साल के बच्चों पर ट्रायल की अनुमति मिल चुकी है।
  • नोबेल विजेता एक्टिविस्ट कैलाश सत्‍यार्थी ने दुनियाभर के स्वास्थ्य मंत्रियों से कोरोना से प्रभावित गरीब बच्चों की मदद करने की अपील की है।

खबरें और भी हैं…



Source