PM मोदी की सुरक्षा चूक में नया खुलासा: DGP चाहते थे प्रदर्शनकारियों को जबरन हटाया जाए, पंजाब सरकार ने बल प्रयोग से रोका

0
23
Article Top Ad


चंडीगढ़5 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

PM मोदी के काफिले को करीब 20 मिनट तक फिरोजपुर में फ्लाईओवर पर रुकना पड़ा।

पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में चूक के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। सूत्रों के मुताबिक पंजाब के कार्यकारी DGP सिद्धार्थ चट्‌टोपाध्याय चाहते थे कि प्रदर्शनकारियों पर बल प्रयोग कर उन्हें हटाया जाए। ताकि प्रधानमंत्री के काफिला वहां से गुजर सके। हालांकि पंजाब सरकार इसके पक्ष में नहीं थी। उन्होंने पंजाब पुलिस को इस मामले में संयम बरतने और जबरन कार्रवाई न करने को कहा। इसकी वजह से PM मोदी के काफिले को करीब 20 मिनट तक फिरोजपुर में फ्लाईओवर पर रुकना पड़ा।

बरगाड़ी जैसा कांड नहीं चाहती थी सरकार

सूत्रों की मानें तो DGP चट्‌टोपाध्याय को कहा गया कि वह ऐसा कोई कदम न उठाएं, जिससे सरकार अकाली सरकार के वक्त हुए बरगाड़ी कांड जैसे मुद्दे पर फंस जाए। 2015 में बरगाड़ी में बहबल कलां में हुई श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी के विरोध प्रदर्शन हो रहा था। जहां पुलिस ने कार्रवाई की और 2 लोगों की पुलिस फायरिंग में मौत हो गई थी। इसी कांड की वजह से पंजाब में अकालियों को सत्ता से बाहर होना पड़ा।

किसानों को PM के आने का भरोसा न दे सकी पंजाब पुलिस

पीएम की सुरक्षा में चूक के मामले में यह भी सामने आया है कि पंजाब पुलिस किसानों को यह भरोसा नहीं दे सकी कि पीएम मोदी इस रास्ते से आ रहे हैं। इसका एक वीडियो सामने आया है। इसमें प्रदर्शनकारियों का एक नेता कह रहा है, पुलिस कह रही है कि पीएम यहां से आ रहे हैं, लेकिन वह तो हवाई मार्ग से हुसैनीवाला पहुंच चुके हैं। जबकि हकीकत में पीएम वहां पहुंच ही नहीं पाए थे।

प्रदर्शन वाली जगह पर जाम लगाने वालों को हटाने के बजाय पुलिस चाय पीती नजर आई।

प्रदर्शन वाली जगह पर जाम लगाने वालों को हटाने के बजाय पुलिस चाय पीती नजर आई।

पंजाब पुलिस ने ब्लू बुक नियमों का पालन नहीं किया

इस मामले में एक और अहम बात सामने आ रही है कि पंजाब पुलिस ने पीएम के दौरे के दौरान ब्लू बुक के नियमों का पालन नहीं किया। इसमें किसी तरह की आपात स्थिति में वैकल्पिक मार्ग की तैयारी होनी चाहिए। यह भी कहा जा रहा है कि SPG का काम पीएम को सुरक्षा घेरा देना होता है। बाकी जगहों पर स्थानीय यानी राज्य पुलिस की जिम्मेदारी होती है। राज्य पुलिस जिस हिसाब से इनपुट देती है, उसके हिसाब से एसपीजी आगे वीआईपी की गतिविधि का फैसला लेती है। इस चूक को लेकर अब खुफिया एजेंसियों से भी रिपोर्ट मांगी गई है।

खराब मौसम की वजह से सड़क से जा रहे थे पीएम

पीएम नरेंद्र मोदी बुधवार को पंजाब के फिरोजपुर में आ रहे थे। वह सुबह 10.20 बजे बठिंडा के भिसियाना एयरपोर्ट पर उतरे। वहां करीब 30 मिनट तक मौसम साफ होने का इंतजार करते रहे। हालांकि हेलिकॉप्टर नहीं उठ सकता था। इसलिए उन्होंने सवा 11 बजे करीब 122 किमी दूर हुसैनीवाला बॉर्डर सड़क के रास्ते से जाने का फैसला किया। इस बारे में तुरंत पुलिस और पंजाब सरकार को सूचित किया गया। 1.05 बजे पीएम का काफिला फ्लाई ओवर पर पहुंचा।

पीएम के रूट पर दूसरी तरफ से भी आ रही थी गाड़ियां

अमूमन जब भी कोई वीआईपी गुजरता है तो दूसरी तरफ से ट्रैफिक नहीं होता। हालांकि पीएम के काफिले के वक्त दूसरी तरफ से प्राइवेट गाड़ियों के साथ बसें तक गुजर रही थीं।

खबरें और भी हैं…



Source