जापान के डॉक्टरों की चेतावनी- गेम्स कराए तो कोरोना के नए ‘ओलिंपिक स्ट्रेन’ के फैलने का खतरा

0
58
Article Top Ad


टोक्यो ओलिंपिक के आयोजन को लेकर देश में कराए गए सर्वे में ज्यादातर लोगों ने इस साल भी खेल टालने की बात का समर्थन किया है. (Tokyo 2020 Twitter)

Tokyo Olympics 2020: जापान के एक डॉक्टर यूनियन ने ओलिंपिक को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की. यूनियन के अध्यक्ष नाओतो उयामा ने कहा कि टोक्यो ओलिंपिक में हिस्सा लेने के लिए दुनिया भर से लोग जापान आएंगे. ऐसे में कोरोना के नए ‘ओलिंपिक स्ट्रेन’ के फैलने का खतरा है.

नई दिल्ली. जापान में इस साल 23 जुलाई से 8 अगस्त में ओलिंपिक होने हैं. एक तरफ जापान की सरकार और अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक संघ गेम्स कराने पर अड़े हैं, तो दूसरी ओर देश की बड़ी आबादी इस साल भी खेलों के आयोजन के खिलाफ है. इस सबके बीच जापान के एक डॉक्टर यूनियन ने ओलिंपिक को लेकर बड़ी चेतावनी जारी की. यूनियन के अध्यक्ष नाओतो उयामा ने कहा कि टोक्यो ओलिंपिक में हिस्सा लेने के लिए दुनिया भर से लोग जापान आएंगे. ऐसे में कोरोना के नए ओलिंपिक स्ट्रेन के फैलने का खतरा है. जापान के डॉक्टर यूनियन के अध्यक्ष के मुताबिक, टोक्यो ओलिंपिक में 200 देशों के खिलाड़ी हिस्सा लेने पहुंचेंगे. ऐसे में खेलों का आयोजन खतरनाक होगा. उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि अलग-अलग स्थानों पर मौजूद वायरस के अलग-अलग स्ट्रेन को टोक्यो में म्यूटेट होने का मौका मिल सकता है. हम ओलिंपिक के बाद कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन के उभरने से पूरी तरह इंकार नहीं कर सकते हैं. अगर ऐसी स्थिति पैदा होती है, तो इसका मतलब यह भी हो सकता है कि वायरस के नए स्ट्रेन का नाम ओलिंपिक पर रखा जा सकता है, जोकि देश के लिए बड़ी त्रासदी होगी. जिसकी अलगे 100 सालों तक आलोचना होगी. विदेशी दर्शकों के जापान आने पर बैन डॉक्टर संघ की चेतावनी के बीच जापान की सरकार और अंतरराष्ट्रीय ओलिंपिक संघ टोक्यो गेम्स के सफल और सुरक्षित आयोजन में जुटा हुआ है. हालांकि, देश कोरोना की चौथी लहर को झेल रहा है. कई राज्यों में इमरजेंसी 31 मई तक बढ़ाई गई है. मौजूदा हालात में सरकार इसकी मियाद अगले महीने तक बढ़ा सकती है. वहीं, एहतियातन विदेशी दर्शकों के भी ओलिंपिक में आने पर बैन लगा दिया गया है. जबकि देश के लोगों के स्टेडियम में एंट्री पर फैसला अगले महीने होगा. अब तक जापान में 5 फीसदी लोगों को ही कोरोना वैक्सीन लगी है.कोरोना के कारण हेल्थ सिस्टम दबाव में जापान का डॉक्टर यूनियन टोक्यो ओलिंपिक के आयोजन को लेकर इसलिए भी डरा है. क्योंकि देश के हेल्थ सिस्टम पर अभी भी काफी दबाव है. ओसाका में ही कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए तय किए गए 348 अस्पतालों के 96 फीसदी बेड बीते हफ्ते इस्तेमाल में आए हैं.ऐसे में अगर ओलिंपिक के दौरान वायरस का म्यूटेशन होता है, तो ये देश की परेशानी बढ़ाने वाला होगा.









Source