नोवाक जोकोविच अभी भी है वीजा फैसले का इंतजार, ऑस्ट्रेलियन ओपन 2022 है करीब 

0
3
Article Top Ad


दुनिया के नंबर वन टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच इस समय ऑस्ट्रेलिया में हैं और वे ऑस्ट्रेलियन ओपन 2022 की तैयारियों में जुटे हैं। हालांकि, पहले मेडिकल जांच और फिर वीजा कारणों से उनको परेशान होना पड़ा है। यहां तक कि शुक्रवार को नोवाक जोकोविच यह सुनने के लिए इंतजार कर रहे थे कि क्या ऑस्ट्रेलियाई सरकार दूसरी बार उनका वीजा कैंसिल करेगी या नहीं, क्योंकि उनको सोमवार से शुरू होने वाले ऑस्ट्रेलियन ओपन में खेलना है, जहां वे रिकॉर्ड 21वें ग्रैंड स्लैम को जीतने की कोशिश करेंगे। 

गत चैंपियन नोवाक जोकोविच को गुरुवार के ड्रॉ में शीर्ष वरीयता मिली है और अपने शुरुआती मैच के में सर्बिया के ही मिओमिर केकमानोविच का सामना करेंगे। ये मुकाबला शायद सोमवार या मंगलवार को होना। वहीं, उनके वीजा को फिर से कैंसिल करने का निर्णय सर्बियाई टेनिस स्टार द्वारा दूसरी अदालती लड़ाई शुरू की जा सकती है, क्योंकि एक अदालत ने पहले उनके निरसन को कैंसिल कर दिया था और सोमवार को उन्हें इमिग्रेशन डिटेंशन से रिहा कर दिया।

मेलबर्न के द एज न्यूजपेपर ने एक सूत्र के हवाले से कहा है कि प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की लिबरल पार्टी ने कहा कि सरकार वीजा को फिर से कैंसिल करने की दिशा में “दृढ़ता से झुकाव” कर रही है। जोकोविच ने अभी तक वैक्सीन नहीं लगवाई है और ऐसे में ऑस्ट्रेलिया में उस समय गुस्सा देखा गया, जब उन्होंने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि वह ऑस्ट्रेलियन ओपन के लिए मेलबर्न जा रहे हैं, जिसमें मेहमानों को COVID-19 के खिलाफ टीकाकरण की आवश्यकताओं के लिए चिकित्सा छूट दी गई है।

ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया के कुछ सबसे लंबे लॉकडाउन को सहन किया है। इस समय वयस्कों के बीच 90 फीसदी टीकाकरण दर है, और पिछले दो हफ्तों में एक ओमिक्रोन के लगभग दस लाख मामले सामने आए हैं। वहीं, वित्त मंत्री साइमन बर्मिंघम ने शुक्रवार को सुबह टेलीविजन पर कहा कि वीजा निर्णय देश के इमिग्रेशन मंत्री एलेक्स हॉक से जुड़ा है, लेकिन कुल मिलाकर सरकार की नीतियां शीशे की तरह साफ थीं।

उन्होंने चैनल 9 से बात करते हुए कहा, “वह यह है कि जो लोग ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश करते हैं, जो ऑस्ट्रेलियाई नागरिक नहीं हैं, उन्हें दोहरी खुराक का टीका लगाया जाना चाहिए, जब तक कि उनके पास इसके खिलाफ स्पष्ट और वैध चिकित्सा छूट न हो।” वहीं, ऑस्ट्रेलियन ओपन के आयोजकों का कहना है कि जोकोविच के वीजा और वैक्सीनेशन विवाद से टूर्नामेंट और शहर की छवि खराब हुई है।  



Source