पिता की दिन की कमाई 100 रुपए…पानी मिला दूध पीकर ट्रेनिंग की, अब हॉकी की ‘रानी’ को मिला पद्मश्री

0
41
Article Top Ad


शाहबाद हॉकी एकेडमी में रानी एडमिशन के लिए पहुंची, तो उनकी कद-काठी को देखकर कोच बलदेव सिंह ने कहा कि अभी तुम्हें सेहत बनाने की जरूरत है. लेकिन वो जिद पर अड़ी थी. कोच भी नहीं माने, लेकिन रानी ने भी हार नहीं मानी. वो रोज एकेडमी के चक्कर लगाती. एक साल के संघर्ष और तपस्या के बाद कोच का दिल भी पिघल गया और उन्हें एकेडमी में दाखिला मिल गया.कोच भी रानी के खेल को देखकर दंग रह गए. लेकिन मुश्किलों भरे सफर की तो यह शुरुआत थी. क्योंकि रानी की घर की माली हालत किसी से छुपी नहीं थी. हॉकी किट, डाइट सबका इंतजाम करना था. (Rani Rampal Instagram)



Source