वैक्सीन न लेने की जिद्द जोकोविच पर पड़ी भारी, कैद में ‘क्रिसमस डे’ मनाने को हुए मजबूर

0
29
Article Top Ad


दुनिया के नंबर एक टेनिस खिलाड़ी नोवाक जोकोविच ने रूढिवादी क्रिसमस (आर्थोडॉक्स क्रिसमस) ऑस्ट्रेलियाई आव्रजन विभाग के होटल में मनाया, जहां वह निर्वासन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई में जुटे हैं । उन्हें सर्बिया से परिजनों और राष्ट्रपति ने भी फोन करके उनका मनोबल बढाया। मेलबर्न में होली ट्रिनिटी सर्बियाई आर्थोडॉक्स चर्च के एक पादरी ने आव्रजन (इमिग्रेशन) अधिकारियों से अनुमति लेकर इस पर्व के मौके पर जोकोविच से मुलाकात की। कई रूढ़िवादी ईसाई ईसा मसीह के जन्म को याद करने के लिये हर साल सात जनवरी को या इसके आसपास ‘क्रिसमस डे’ मनाते हैं जिसे आर्थोडॉक्स क्रिसमस कहा जाता है।

चर्च के डीन मिलोराड लोकार्ड ने ऑस्ट्रेलियाई ब्रॉडकास्टिंग कारपोरेशन से कहा ,” हमारा क्रिसमस कई परंपराओं से जुड़ा है और ऐसे में एक पादरी का उससे मिलना महत्वपूर्ण था।”
उन्होंने कहा, ”उसे कैद में क्रिसमस मनाना पड़ा। यह काफी दुखद है। कोई सोच भी नहीं सकता।”

मेलबर्न में शरणार्थियों और राजकीय संरक्षण के इच्छुक लोगों को रखने वाले पार्क होटल के बाहर जोकोविच के समर्थक झंडे और बैनर लेकर जमा हुए थे। उनके साथ मानवाधिकार कार्यकर्ता भी थे।

 

 

जोकोविच को कड़े कोरोना टीकाकरण नियमों में मेडिकल छूट के लिये जरूरी शर्ते पूरी नहीं करने के कारण ऑस्ट्रेलिया में प्रवेश नहीं दिया गया और उनका वीजा भी रद्द कर दिया गया है। ऐसे में रिकॉर्ड 21वां ग्रैंडस्लैम जीतने की तैयारी करने की बजाय वह वीजा रद्द होने और निर्वासन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की तैयारी कर रहे हैं ।

ऐसे में उनके विरोधी रहे लोग भी अब उनका समर्थन कर रहे हैं। टीकाकरण को लेकर जोकोविच की राय का विरोध करने वाले ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी निक किर्गियोस ने कहा ,” मैने दूसरों के लिये टीका लगवाया। अपनी मां की सेहत को ध्यान में रखकर टीका लगवाया। मैं मानता हूं कि कार्रवाई करनी चाहिये लेकिन जिस तरह से नोवाक के साथ किया जा रहा है, वह बहुत बुरा है।”
उन्होंने कहा ,” वह महानतम चैम्पियन में से है लेकिन है तो इंसान ही।”

इस बीच जेलेना जोकोविच ने अपने पति के समर्थकों को सोशल मीडिया पर धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ”सभी को धन्यवाद । दुनिया भर से मेरे पति को प्यार भेजने वालों को धन्यवाद।”





Source