Tokyo Olympics: पीवी सिंधु से गोल्ड मेडल की उम्मीद, 2019 में बना चुकी हैं बड़ा रिकॉर्ड

0
36
Article Top Ad


नई दिल्ली. टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) को लेकर भारतीय खिलाड़ी तैयार हैं. सबसे अधिक उम्मीद बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) से है. आखिर हो भी क्यों नहीं. 2016 रियो ओलंपिक में उन्होंने भारत को सिल्वर मेडल दिलाया था. वे बैडमिंटन में सिल्वर जीतने वाली पुरुष और महिला वर्ग में पहली भारतरीय खिलाड़ी थीं. टोक्यो में भारत के 120 खिलाड़ी 18 खेलों में दमखम दिखाएंगे. इस बार दहाई मेडल की उम्मीद की जा रही है. हालांकि पिछली बार भारत को एक सिल्वर और एक ब्रॉन्ज समेत सिर्फ दो मेडल मिले थे. गेम्स 23 जुलाई से 8 अगस्त तक होने हैं.

पीवी सिंधु से मेडल की उम्मीद इसलिए भी है, क्योंकि वे 2019 में बड़ा रिकॉर्ड बना चुकी हैं. तब उन्होंने वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था. वे ऐसा करने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं थी. इस बार महिला सिंगल्स में भारत की ओर से सिर्फ सिंधु ही उतर रही हैं. 2012 में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली साइना नेहवाल इस बार क्वालिफाई नहीं कर सकीं. कोरोना के कारण कई टूर्नामेंट को स्थगित करना पड़ा.

पीवी सिंधु के रिकॉर्ड.

पिछली बार नहीं था किसी तरह का दबाव

पीवी सिंधु 2016 में पहली बार ओलंपिक में उतरी थीं. ऐसे में उन पर किसी तरह का दबाव नहीं था. लेकिन इस बार वे बतौर मेडलिस्ट उतर रही हैं. ऐसे में दूसरे खिलाड़ियों की नजर भी उन पर होगी. इस पर पीवी सिंधु ने कहा कि मैं किसी भी बड़े टूर्नामेंट में उतरती हूं, तो मुझसे मेडल की उम्मीद की जाती है. लेकिन मैं लोगों इन उम्मीद के दबाव में नहीं आकर अपना स्वाभाविक खेल खेलूंगी. वे वर्ल्ड चैंपियनशिप में पांच मेडल जीत चुकी हैं. 2017 से 2019 तक लगातार तीन साल उन्होंने मेडल जीते.

चीन और जापान के खिलाड़ियों से भिड़ंत अहम

पीवी सिंधु के सामने सबसे बड़ी चुनाैती चीन और जापान की खिलाड़ी होंगी. इस बार ओलंपिक जापान में हो रहे हैं. ऐसे में उन्हें इसका फायदा मिलेगा. स्पेन की कैरोलिना मारिन चोट के कारण गेम्स से दूर हैं. ओलंपिक में सिंधु को छठी वरीयता मिली हुई है. चीन की चेन यू फेई को पहली वरीतया मिली है. ताइवान की ताइ जू यिंग काे दूसरी, जापान की नोजोमी ओकुमारा को तीसरी, जापान की ही अकाने यामागुची को चौथी और थाईलैंड की रत्नाचोक इंतानोन को पांचवीं वरीयता मिली है.

फेई के खिलाफ सिंधु का रिकॉर्ड अच्छा

नंबर-1 चीन की चेन यू फेई के खिलाफ पीवी सिंधु का रिकॉर्ड अच्छा रहा है. दोनों के बीच 10 मुकाबले हुए हैं. सिंधु 6-4 से आगे हैं. हालांकि पिछले दिनों फेई का प्रदर्शन लाजवाब रहा है. ऐसे में वे सिंधु के लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर सकती हैं. लेकिन ताई जू यिंग ने सिंधु को 18 में से 13 बार मात दी है. जापान की खिलाड़ियों के खिलाफ पीवी सिंधु का रिकॉर्ड ओवरऑल अच्छा है.





Source