बड़ा खतरा: मेरठ में फूटा कोरोना बम, एक दिन में मिले 303 नए मरीज, छह जिलों के आंकड़े देख लग रहा डर

0
11
Article Top Ad


मेरठ में कोरोना
– फोटो : पीटीआई

उत्तर प्रदेश के मेरठ शहर में गुरुवार को कोरोना का बम फूट पड़ा। जिले में एक दिन में कोरोना के 303 नए मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मचा है। उधर, कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए शहरवासियों में भी दहशत फैल रही है। इसके अलावा पश्चिमी यूपी के सहारनपुर में 94, मुजफ्फरनगर में 60, शामली में 29, बागपत में 21 और बिजनौर में 19 नए मामले मिले हैं। इन सभी जिलों में पिछले कई दिनों से तेजी से मामले बढ़ रहे हैं।

मेरठ में कोरोना के 303 मरीज मिले

मेरठ में कोरोना की तीसरी लहर तेजी से दस्तक दे दी है। शहर से लेकर देहात तक कोरोना फैल गया है। सात माह बाद कोरोना फिर पुराने रंग में है। गुरुवार को 7237 लोगों की कोरोना की जांच की गई। इनमें  एसपी सिटी विनीत भटनागर समेत कोरोना के 303 मरीज मिले हैं। जिले में सात माह बाद तीन सौ से ज्यादा मरीज मिले हैं। 

पीएल शर्मा जिला अस्पताल की नेत्र रोग विशेषज्ञ, पैथोलॉजी लैब के तीन पैरामेडिकल स्टाफ, 14 पुलिसकर्मी और ऊर्जा भवन के आठ कर्मचारी भी संक्रमित निकले हैं। मंगल पांडे नगर की रहने वाली एक साल बच्ची और शास्त्रीनगर के 86 साल के बुजुर्ग भी पॉजिटिव हैं। सक्रिय मरीजों की संख्या 640 हो गई है। 621 होम आइसोलेशन में हैं और 19 अस्पतालों में भर्ती हैं। इनमें से नौ मरीज  मेडिकल के कोविड ब्लॉक (सुपर स्पेशयलिटी) में भर्ती कराए गए हैं। चार मरीजों की छुट्टी हुई है। नए मरीजों में 109 महिला वर्ग और 194 पुरुष वर्ग से हैं। 

इन इलाकों में मिले नए केस

नए मरीज शास्त्रीनगर, बुढ़ाना गेट, सुभाष नगर, इस्लामाबाद, रजबन, जयभीमनगर, कंकरखेड़ा, सरधना, दौराला, मवाना, माछरा, पल्हेड़ा, राजेन्द्र नगर, तारापुरी, लल्लापुरा आदि के रहने वाले हैं। 

पोर्टल पर संख्या 401 

मेरठ स्वास्थ्य विभाग ने 303 मरीजों का आंकड़ा जारी किया है। हालांकि लखनऊ पोर्टल पर मेरठ से जो संख्या लिखी है वह 401 मरीजों की है। सर्विलांस अधिकारी डॉ अशोक तलियान का कहना है कि मरीजों की पड़ताल के आंकड़ा दिया जाता है, बाकी जिलों के मरीज अलग कर दिए जाते हैं, जबकि पोर्टल पर सब मरीजों की सूचना चढ़ती रहती है।

जिला अस्पताल में दी गई ट्रेनिंग 

जिला अस्पताल में कोरोना के इलाज के लिए आने वाले मरीजों के मद्देनजर पैरामेडिकल स्टाफ को ट्रेनिंग दी गई है। यहां 150 बेड आरक्षित किए गए हैं। इनमें 25 आईसीयू बेड हैं और 23 वेंटिलेटर हैं।

कोरोना के मामले
– फोटो : पीटीआई

राजकीय मेडिकल कॉलेज के तीन चिकित्सक समेत 94 संक्रमित 

सहारनपुर में राजकीय मेडिकल कॉलेज के तीन चिकित्सकों समेत गुरुवार को 94 कोरोना संक्रमित मिले हैं। इनके साथ ही जनपद में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच अभी तक 234 संक्रमित मिल चुके हैं। 

जिले में गुरुवार को 94 कोरोना संक्रमितों में 17 लोग अकेले शेखुल हिंद मौलाना महमूद हसन मेडिकल कॉलेज पिलखनी के हैं। इनमें तीन चिकित्सक, एमबीबीएस के दस छात्र और चार स्वास्थ्यकर्मी शामिल हैं। जिला महिला अस्पताल के भी तीन कर्मचारी शामिल हैं। इनके अतिरिक्त सरसावा के 19, देवबंद के 10 लोग शामिल हैं। शहर में सुभाष नगर के पांच, मिशन कंपाउंड के तीन लोग संक्रमित मिले हैं। 

शहरी क्षेत्र में पंत विहार, न्यू अर्जुन नगर, बाजोरिया रोड, लेबर कॉलोनी, कैलाशपुरम, पैरामाउंट कॉलोनी, नवीन नगर, शिव विहार, प्रतापनगर, पुलिस लाइन, गणेशपुरम, कृष्णनगर, गंगोह रोड, शिवाजी नगर, भगत सिंह कॉलोनी, पेपर मिल रोड, नूर बस्ती, जनकपुरी, चंद्रनगर, मदनपुरी, प्रेमवाटिका, प्रताप नगर में भी संक्रमित मिले हैं। खास बात यह है कि जनवरी के छह दिनों में 206 कोरोना संक्रमित मिल चुके हैं। अभी तक मिले कुल 234 मरीजों में से 32 स्वस्थ हो चुके हैं। वहीं, 202 सक्रिय मरीज हैं। 

तीन बच्चे व दो किशोर

94 संक्रमितों में तीन बच्चे हैं, जिनकी उम्र दस साल तक है। इनके अतिरिक्त 17 साल तक के दो किशोर भी शामिल हैं। शेष में 70 फीसदी मरीज 18 से 40 आयु वर्ग के हैं। करीब 15 फीसदी मरीज 40 से अधिक आयु से अधिक के हैं। 94 मरीजों में 63 शहरी क्षेत्र, जबकि 31 मरीज ग्रामीण क्षेत्रों के हैं। 

संक्रमितों में शहर के साथ सरसावा और देवबंद के भी मरीज शामिल हैं। संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों को सावधान हो जाने की जरूरत है। जनपद में अब 202 सक्रिय मरीज हैं। – शिवांका गौड़, सर्विलांस अधिकारी

कोरोना
– फोटो : सोशल मीडिया

एसडीएम जानसठ और एआरटीओ समेत 60 संक्रमित 

मुजफ्फरनगर में कोरोना संक्रमण दोगुनी रफ्तार से फैलना शुरू हो गया है। एसडीएम जानसठ और एआरटीओ समेत जिले में 60 लोग संक्रमित मिले हैं। तीन बजे के बाद परिवहन कार्यालय बंद कराकर सैनिटाइजेशन किया गया। कर्मचारियों के सैंपल लिए गए हैं। 

संक्रमण खतरनाक हो रहा है। एसडीएम जानसठ जयेंद्र कुमार  की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग की टीम कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य कर रही है। एआरटीओ विनीत मिश्रा और उनकी पत्नी की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। परिवहन कार्यालय में हड़कंप की स्थिति रही। तीन बजे के बाद आमजन के लिए काम रोक दिए गए। लाइसेंस और अन्य कार्य नहीं किए गए। स्वास्थ्य विभाग ने टीम भेजकर यहां कर्मचारियों की जांच कराने का कार्य किया है। कार्यालय को सैनिटाइज किया गया। प्रभारी सीएमओ डॉ. अरविंद पंवार ने बताया कि गुरुवार शाम चार बजे तक जिले में 60 संक्रमित मिले हैं। सक्रिय केस की संख्या 128 पर पहुंच गई है। संक्रमितों को होम आइसोलेशन में रखा गया है।

बुढ़ाना, जानसठ और पुरकाजी तक खतरा

संक्रमण का दायरा बुढ़ाना, जानसठ और पुरकाजी तक बढ़ा है। गुरुवार को जांच रिपोर्ट में इन क्षेत्रों के भी मरीज मिले हैं। इससे देहात क्षेत्र में और अधिक खतरा बढ़ गया है।

एक-दूसरे के संपर्क से बढ़े मामले

जिले में संक्रमण के अधिकतर मामले एक-दूसरे के संपर्क में आने से बढ़ रहे हैं। सक्रिय 128 केस में से 53 ऐसे हैं, जो कांटेक्ट ट्रेसिंग से पकड़े गए हैं। रेंडम चेकिंग में सिर्फ 15 मामले मिले हैं। जाहिर है कि कोरोना संक्रमितों के संपर्क में आने से खतरा बढ़ा है। 

कोरोना
– फोटो : सोशल मीडिया

चिकित्सा प्रभारी सहित 29 संक्रमित मिले 

शामली जिले में ऊन ब्लाक के चिकित्सा प्रभारी और 13 वर्षीय छात्रा सहित 29 लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिले में कोरोना के सक्रिय केस बढ़कर 78 हो गई है। इनमें छह साल के बच्चे से लेकर 80 साल तक के वृद्ध कोरोना संक्रमण की चपेट में आए हैं। सभी लोग आरटीपीसीआर जांच में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।

जिले में कोरोना संक्रमण लगातार पांव पसारता जा रहा है। कोरोना संक्रमण के केस लगातार सामने आ रहे हैं। गुरुवार को आई सैंपलों की जांच रिपोर्ट में 29 लोग और कोरोना संक्रमित मिले हैं। सैंपलों की आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट में ऊन ब्लाक के चिकित्सा प्रभारी कोराना संक्रमित मिले हैं। गांव मुंडेट के एक स्कूल की 13 वर्षीय छात्रा कोरोना संक्रमित मिली। शहर के मोहल्ला बूढ़ाबाबू में 25 व 28 वर्षीय दो युवक, गांधीगंज में 47 वर्षीय व्यक्ति, कांबोज कालोनी में 58 वर्षीय महिला, तालाब रोड निवासी 25 वर्षीय युवक, रेलवे कालोनी में 40 वर्षीय व 37 वर्षीय युवक, शांति नगर में 55 वर्षीय व्यक्ति, हनुमान रोड पर 42 वर्षीय युवक, गगन विहार में 27 वर्षीय युवक, शिव चौक निवासी 23 वर्षीय युवक और रणजीत नगर निवासी 57 वर्षीय व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया गया। 

इसके अलावा गांव डुंगर में 70 वर्षीय दो व्यक्ति, 35 वर्षीय महिला, छह साल का बच्चा, 11 वर्षीय किशोर व 17 वर्षीय किशोरी संक्रमित पाई गई। गांव किवाना में 50 वर्षीय व्यक्ति और 18 वर्षीय युवती कोरोना संक्रमित मिली। 

गांव काबड़ौत में 28 वर्षीय युवक, फतेहपुर में 15 वर्षीय किशोर, मादलपुर में 44 वर्षीय व्यक्ति, गांव ताना में 28 वर्षीय महिला, कुड़ाना में 80 वर्षीय वृद्ध, गांव कंडेला में 74 वर्षीय वृद्ध और गांव तलवा माजरा में 52 वर्षीय महिला में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ. जाहिद अली त्यागी ने बताया कि जिले में 29 और लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। जिले में सक्रिय केस की संख्या बढ़कर 78 हो गई है।

कोरोना के मामले
– फोटो : पीटीआई

एसपी, एएसपी और सूचना अधिकारी सहित 21 कोरोना संक्रमित 

बागपत जिले में गुरुवार को एसपी नीरज कुमार जादौन, एएसपी मनीष मिश्र और सूचना अधिकारी राहुल भाटी के अलावा रमाला थाना के एसएसआई, सीएमओ कार्यालय के बाबू और बड़ौत सीएचसी के एक चिकित्सक सहित 21 लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। संक्रमितों को होम आइसोलेट कर उपचार शुरु कर दिया है। संक्रमितों की गलियों को सील कर आवागमन पर रोक लगा दी है। 

सीएमओ डॉ. दिनेश कुमार ने बताया कि बृहस्पतिवार को एसपी, एएसपी, सूचना अधिकारी, कलक्ट्रेट की केनरा बैंक शाखा के तीन कर्मचारी, पुराना कस्बा का युवक, रमाला थाने पर तैनात एसएसआई, सरुरपुर सीएचसी पर तैनात दो स्वास्थ्य कर्मी, सरूरपुर गांव के दो ग्रामीण, सीएमओ कार्यालय का एक बाबू, बड़ौत कोतवाली का एक सिपाही, बड़ौत सीएचसी का एक चिकित्सक, दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करने वाले खेकड़ा व रटौल के युवक, खेकड़ा के मंसूरपुर की एनबीसी कॉलोनी का जनसेवा केंद्र संचालक, बिनौली क्षेत्र के मुकीमपुरा, हजूराबाद गढ़ी और निरपुड़ा गांव की एक-एक महिला संक्रमित मिली है। स्वास्थ्य विभाग ने संक्रमितों को होम आइसोलेट कर उपचार शुरू कर दिया है। संक्रमितों की गलियों को सील कर सैनिटाइजर का छिड़काव कराया जा रहा है। संक्रमितों की गलियों में आने-जाने पर प्रतिबंध लगा दिया है। स्वास्थ्य विभाग ने लोगों को संक्रमण से बचाव के लिए कोविड गाइड लाइन का पालन करने और कोरोनारोधी टीकाकरण करवाने का आह्वान किया है।   



Source