बीजेपी, आरएसएस के लोग हिंदू नहीं हैं, सिर्फ हिंदू धर्म का इस्तेमाल करते हैं: राहुल गांधी

0
29
Article Top Ad


Image Source : PTI
कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और बीजेपी पर हमला वोला है।

नयी दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और बीजेपी पर हमला वोला है। राहुल गांधी ने कहा कि ये कैसे हिंदू हैं जो हिंदू धर्म की दलाली करते हैं। आरएसएस और मोदी ने लक्ष्मी-दुर्गा की शक्तियां तीन-चार हाथों में पहुंचा दी। राहुल ने पीएम मोदी पर डायरेक्ट हमला करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री में सच बोलने की शक्ति नहीं है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि ये लोग हिंदू नहीं हैं, ये सिर्फ हिंदू धर्म का इस्तेमाल करते हैं। उन्होंने कांग्रेस की महिला इकाई अखिल भारतीय महिला कांग्रेस के स्थापना दिवस समारोह में यह दावा भी किया कि आरएसएस एवं बीजेपी के लोग महिला शक्ति को दबा रहे हैं और भय का माहौल पैदा कर रहे हैं। 

राहुल गांधी ने नोटबंदी और जीएसटी का उल्लेख करते हुए कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार ने लक्ष्मी की शक्ति और दुर्गा की शक्ति पर आक्रमण किया है। उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘वे (आरएसएस और बीजेपी) अपने आपको हिंदू पार्टी कहते हैं और लक्ष्मी जी और मां दुर्गा पर आक्रमण करते हैं। फिर कहते हैं कि वे हिंदू हैं। ये लोग झूठे हिंदू हैं। ये लोग हिंदू नहीं हैं। ये हिंदू धर्म का इस्तेमाल करते हैं।’’

कांग्रेस नेता के मुताबिक, बीजेपी और आरएसएस के लोगों ने पूरे देश में डर फैलाया है, किसान डरे हुए हैं, महिलाएं डरी हुई हैं। उन्होंने कहा कि आरएसएस महिला शक्ति को दबाता है, लेकिन कांग्रेस का संगठन महिला शक्ति को समान मंच देता है। 

राहुल गांधी ने कहा, ‘‘अगर पिछले 100-200 साल में किसी एक व्यक्ति ने हिंदू धर्म को सबसे अच्छे तरीके से समझा और अपने व्यवहार में लाया, तो वह महात्मा गांधी हैं। इसे हम भी मानते हैं और आरएससस एवं बीजेपी के लोग भी मानते हैं। महात्मा गांधी ने अहिंसा को सबसे अच्छे तरीके से जिया। हिंदू धर्म की बुनियाद अहिंसा है। इसके बावजूद आरएसएस की विचारधारा द्वारा महात्मा गांधी को गोली क्यों मारी गई? इस बारे में आपको सोचना होगा।’’ 

उन्होंने कहा कि वह आरएसएस और बीजेपी की विचारधारा के साथ कभी समझौता नहीं कर सकते। राहुल गांधी ने जोर देकर कहा, ‘‘देश में आरएससस और बीजेपी की सरकार है। इनकी विचारधारा और हमारी विचारधारा अलग अलग हैं। कांग्रेस की विचारधारा गांधी की विचारधारा है। गोडसे और सावरकर की विचारधारा और हमारी विचारधारा में क्या फर्क है, इसे हमें समझना होगा। हमें इनके खिलाफ प्रेम से लड़ना है। नफरत के जरिये हम नहीं लड़ सकते।’’

ये भी पढ़ें





Source