संयुक्त राष्ट्र में इमरान का झूठ बेनकाब, भारत ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा

0
4
Article Top Ad


Image Source : AP & ANI
संयुक्त राष्ट्र में इमरान का झूठ बेनकाब, भारत ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा

न्यूयॉर्क. संयुक्त राष्ट्र में भारत ने पाकिस्तान को करार जवाब दिया है। वैश्विक मंच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री द्वारा बोले गए झूठ को बेनकाब करते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत की फर्स्ट सेक्रेटरी स्नेहा दूबे ने कहा कि हम पाकिस्तान के नेता द्वारा इस मंच पर हमारे देश के आंतरिक मामलों पर झूठ बोलकर हमारे देश की छवि खराब करने के प्रयास  किया है। उन्होंने कहा कि अफसोस की बात है कि यह पहली बार नहीं है जब पाकिस्तान के नेता ने मेरे देश के खिलाफ झूठे और दुर्भावनापूर्ण प्रचार करने के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रदान किए गए प्लेटफार्म का दुरुपयोग किया है और दुनिया का ध्यान अपने देश की दुखद स्थिति से हटाने के लिए व्यर्थ की मांग की है, जहां आतंकवादी सरकार का संरक्षण प्राप्त करते हैं।

स्नेहा दूबे ने आगे कहा कि सदस्य देश जानते हैं कि पाकिस्तान ने आतंकवादियों को पनाह देने, सहायता करने और सक्रिय रूप से समर्थन करने का इतिहास और नीति स्थापित की है। पूरी दुनिया को पता है कि इस देश द्वारा आतंकवादियों को खुला समर्थन, ट्रेनिंग, वित्तीय सहायता, उन्हें हथियार उपलब्ध करवाए जाते हैं। भारत ने कहा कि पूरी केंद्र शासित राज्य जम्मू-कश्मीर और केंद्र शासित राज्य लद्दाख भारत के अभिन्न और अविभाज्य अंग थे, हैं और रहेंगे। इसमें वे क्षेत्र शामिल हैं जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे में हैं। हम पाकिस्तान से उसके अवैध कब्जे वाले सभी क्षेत्रों को तुरंत खाली करने का आह्वान करते हैं।

UN में इमरान ने भारत को दी युद्ध की धमकी

UNGA में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने न सिर्फ तालिबान की वकालत की बल्कि भारत को युद्ध की धमकी तक दे डाली। UN जनरल असेंबली में रिकॉर्डेड भाषण में इमरान खान ने धमकी दी कि अगर भारत ने बातचीत का माहौल नहीं बनाया तो दोनों देशों के बीच फिर एक युद्ध हो सकता है। इमरान खान ने अपने भाषण में कश्मीर का राग तो अलापा ही, तालिबान की भी जमकर वकालत की। इमरान खान ने गिड़गिड़ाने वाले अंदाज में पूरी दुनिया से अपील की कि वो तालिबान को मान्यता दें दें। इमरान खान ने दुनिया को ये कहकर भी डराया कि अगर तालिबान को मान्यता नहीं मिली तो अफगानिस्तान पूरी दुनिया के आंतकियों का अड्डा बन जाएगा। 





Source