जॉर्ज फ्लॉयड की पहली बरसी पर शहर ने रखा कुछ पल का मौन, स्पेन और डेनमार्क में हुआ रैलियों का आयोजन

0
74
Article Top Ad


मिनियापोलिसः मिनियापोलिस में पुलिस अधिकारी द्वारा अश्वेत जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या की पहली बरसी पर शहर में लोगों ने कुछ पल का मौन रखा और जिस चौराहे पर यह घटना हुई थी वहां फ्लॉयड की याद में लोगों ने मंगलवार को मेले का आयोजन किया. फ्लॉयड की बहन ब्रिगेट और परिवार के अन्य सदस्यों ने मेयर जेकब फ्रे, अन्य लोगों, स्थानीय निवासियों और कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर दोपहर एक बजे एक पार्क में मौन रखा.

डेमोक्रेटिक गर्वनर टिम वाल्ज ने मौन के लिए दोपहर का समय तय किया था और उन्होंने कहा कि फ्लॉयड को सही न्याय तभी मिलेगा जब यह संगठित नस्लवाद खत्म होगा. इस दौरान ब्रिगेट ने लोगों से कहा, ‘‘यह परेशान करने वाला बहुत लंबा एक साल था.’’ उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन हमने इसे काटा. लोग कहते हैं कि ऊपर वाला साथ हो तो कुछ भी संभव है और मैं भगवान के इस रूप को मानती हूं. आज सभी का प्यार मिल रहा है. प्यार भी यहीं है और जॉर्ज भी यहीं है.’’

न्यूयॉर्क में भी कुछ पल का मौन रखा गया और लॉस एंजिलिस में फ्लॉयड के सम्मान में रैली निकाली गयी. स्पेन और डेनमार्क में भी रैलियों का आयोजन हुआ. जिस चौराहे पर फ्लॉयड की मौत हुई थी, मंगलवार को वहां मेला लगा. इस दौरान वहां पर खाने-पीने की व्यवस्था से लेकर बच्चों के खेल-कूद और मनोरंजन का इंतजाम किया गया था.

रैपर नूर-डी ने ट्वीट कर करते हुए लिखा ‘‘हम शोक को नाच-नाच कर मनाएंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम अन्याय के दौर में 365 दिनों के अपने साहस का जश्न मनाएंगे.’’

गौरतलब है कि 2020 में 46 वर्षीय अश्वेत फ्लॉयड को जमीन पर गिराने के बाद तत्कालीन पुलिस अफसर डेरेक चाउविन ने करीब नौ-दस मिनट तक घुटने से उसके गले को दबाया जिससे उसकी मौत हो गई. इस मामले में डेरेक को हत्या का दोषी माना गया है और अदालत 25 जून को सजा सुनाने वाली है. वहीं अन्य तीन आरोपी पूर्व अधिकारियों के खिलाफ अभी मुकदमा चल रहा है.

 

इसे भी पढ़ेंः
जॉर्ज फ्लॉयड की सालभर पहले जहां हुई थी मौत, मिनियापोलिस चौराहे पर सुनी गई गोलियों की आवाज

 

गुजरात से कोलंबो जा रहे मर्चेंट शिप में ब्लास्ट के बाद लगी आग, बुझाने के लिए श्रीलंका ने भारत से मांगी मदद



Source