दुनिया की पांच बड़ी खबरें: चीन को माकूल जवाब देने की तैयारी- ताइवान ने अपने F-16 फाइटर जेट्स की तैनाती शुरू की

0
49
Article Top Ad


  • Hindi News
  • International
  • US UK UAE Pakistan China Top Stories Updated | Today’s Top International News Of The Day (Dainik Bhaskar)

लंदन3 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

ताइवान ने चीनी हमले से निपटने के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। इसके लिए ताइवान की एयरफोर्स ने उन फाइटर जेट्स की तैनाती शुरू कर दी है, जिनसे चीन सबसे ज्यादा खौफ में रहता है। दूसरी तरफ, भुखमरी से जूझ रहे नॉर्थ कोरिया ने बुधवार को एक बार फिर दुनिया को चौंकाया। खबर है कि उसने बैलेस्टिक मिसाइल का टेस्ट किया। आइए जानते हैं दुनिया की पांच अहम खबरें।

चीन को जवाब की तैयारी

ताइवान ने चीन को जवाब देने के लिए अमेरिका से F-16 फाइटर जेट्स खरीदे हैं। (फाइल)

ताइवान ने चीन को जवाब देने के लिए अमेरिका से F-16 फाइटर जेट्स खरीदे हैं। (फाइल)

ताइवान की एयरफोर्स ने बुधवार को अपने F-16 फाइटर जेट्स तैनात कर दिए और इनकी फाइनल ड्रिल यानी एक्सरसाइज भी शुरू कर दी। ताइवान ने यह F-16 फाइटर जेट्स अमेरिका से खरीदे हैं और चीन के तमाम दावों के बावजूद ऐसा माना जाता है कि उसके पास इनसे मुकाबले का कोई फाइटर जेट नहीं है। चीन के फाइटर जेट्स ने कुछ महीनों में कई बार ताइवान के एयर डिफेंस जोन में घुसपैठ की है। ताइवान ने इनसे मुकाबले के लिए अपना एयर डिफेंस सिस्टम तैनात कर दिया है। इसके दो दिन बाद ही F-16 फाइटर जेट्स की तैनाती की गई है। ताइवान की राष्ट्रपति ने मंगलवार को ही साफ कर दिया था उनका देश चीन के आगे झुकने को तैयार नहीं है और अब उसकी हर हरकत का जवाब दिया जाएगा।

नॉर्थ कोरिया की नई हरकत

नॉर्थ कोरिया ने बुधवार को बैलेस्टिक मिसाइल टेस्ट किया। यह मिसाइल समुद्र में गिरी।

नॉर्थ कोरिया ने बुधवार को बैलेस्टिक मिसाइल टेस्ट किया। यह मिसाइल समुद्र में गिरी।

भुखमरी और गरीबी से जूझ रहे नॉर्थ कोरिया अब भी हथियारों पर पानी की तरह पैसा बहा रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बुधवार को नॉर्थ कोरिया ने एक बैलेस्टिक मिसाइट का टेस्ट किया। यह मिसाइल समुद्र में गिरी। इस साल यह नॉर्थ कोरिया की तरफ से किया गया पहला टेस्ट है। जापान और साउथ कोरिया ने भी टेस्ट किए जाने की पुष्टि की है। किम जोंग उन ने हाल ही में सत्ता में 10 साल पूरे किए हैं। तानाशाही संभालने के बाद किम को फोकस एटमी ताकत बनने पर रहा है। कोरोना के दौर में मुल्क में भुखमरी का दौर चल रहा है। इसके बावजूद नॉर्थ कोरिया बैलेस्टिक मिसाइल टेस्ट कर रहा है। बहरहाल, नॉर्थ कोरिया के बैलेस्टिक मिसाइल टेस्ट के बाद साउथ कोरिया में नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल की मीटिंग हुई।

चीन के दो दुश्मन एक साथ आए

ताइवान ने कहा है कि वो लिथुआनिया को संकट से बचाने के लिए उसकी मदद करेगा।

ताइवान ने कहा है कि वो लिथुआनिया को संकट से बचाने के लिए उसकी मदद करेगा।

दुनिया के छोटे देशों को कभी कर्ज तो कभी मिलिट्री के दम पर धमका रहे चीन को ये देश जवाब देने लगे हैं। लिथुआनिया ने चीन का विरोध किया तो बीजिंग ने उसे आर्थिक आधार पर घेरना शुरू किया। ताइवान को भी चीन धमका रहा है। अब ताइवान ने कहा है कि वो लिथुआनिया से शराब की 20 हजार 400 बॉटल खरीदेगा। इनका ऑर्डर चीन ने लिथुआनिया को दिया था, लेकिन बाद में बहुत ज्यादा कस्टम ड्यूटी लगा दी, ताकि लिथुआनिया को घाटा हो। अब ताइवान ने साफ कर दिया है कि वो इस शराब को खरीदेगा ताकि लिथुआनिया सरकार को आर्थिक नुकसान न हो। लिथुआनिया सरकार ने आरोप लगाया है कि चीन उसको आर्थिक तौर पर तबाह करने के लिए वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन का इस्तेमाल कर रहा है।

इजराइल में नई शुरुआत

इजराइल में अब समलैंगिक जोड़े भी सरोगेसी के जरिए पैरेंट्स बन सकेंगे। (प्रतीकात्मक)

इजराइल में अब समलैंगिक जोड़े भी सरोगेसी के जरिए पैरेंट्स बन सकेंगे। (प्रतीकात्मक)

इजराइल में अब समलैंगिक या सिंगल मेन सरोगेसी के लिए आवेदन कर सकेंगे। नफ्टाली बेनेट सरकार ने इसकी मंजूरी दे दी है। कुछ दिन पहले इजराइली सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर फैसला दिया था। सरकार की तरफ से जारी बयान में कहा गया है- समलैंगिक जोड़ों या फिर अकेले पुरुष भी अब सरोगेसी के जरिए पैरेंट्स बन सकेंगे। इसके लिए नियम तय कर दिए गए हैं। सबसे बड़ी शर्त यह है कि सरोगेसी का लाभ इजराइल में और यहां के नागरिक ही उठा सकेंगे। पिछले साल सिंगल वुमन को सरोगेसी के लिए मान्यता दी गई थी। हालांकि, समलैंगिकों को इससे दूर रखा गया था। हेल्थ मिनिस्टर- निटजन होरोविट्ज ने कहा- यह देश के लिए ऐतिहासिक दिन है। समलैंगिक लंबे वक्त से इस अधिकार को पाने के लिए संघर्ष कर रहे थे।

विंटर ओलिंपिक्स पर नया खतरा

बीजिंग में बढ़ते स्मॉग की वजह से विंटर ओलिंपिक्स पर खतरा मंडराने लगा है। (फाइल)

बीजिंग में बढ़ते स्मॉग की वजह से विंटर ओलिंपिक्स पर खतरा मंडराने लगा है। (फाइल)

चीन और खासकर राजधानी बीजिंग में स्मॉग विंटर ओलिंपिक्स में नई रुकावट पैदा कर रहा है। अगले महीने यानी फरवरी में यहां विंटर ओलिंपिक्स होने हैं। हालांकि, कुछ लोगों का कहना है कि बीजिंग में खेलों के आयोजन में कोई दिक्कत नहीं होगी। 2015 में ओलिंपिक खेलों के बाद चीन ने पॉल्यूशन के खिलाफ एक तरह से जंग छेड़ दी थी। यहां दर्जनों कोयला प्लांट्स बंद कर दिए गए थे। कई फैक्ट्रीज को बंद कर दिया गया था। इसके अलावा कई विंड और सोलर पैनल लगाए गए थे। 2013 में हुए एक सर्वे में कहा गया था कि चीन में पॉल्यूशन की वजह से सबसे खराब हालात पैदा हुए। इस रिपोर्ट में कहा गया था कि बीजिंग को खूबसूरत बनाने के लिए हानिकारक कैमिकल्स वाले कलर्स का इस्तेमाल किया गया था।

खबरें और भी हैं…



Source