दुनिया की पांच बड़ी खबरें: बाइडेन ने यूक्रेन के राष्ट्रपति से कहा- रूस ने आपके देश पर हमला किया तो अमेरिका निर्णायक कार्रवाई करेगा

0
3
Article Top Ad


  • Hindi News
  • International
  • US UK UAE Pakistan China Top Stories Updated | Today’s Top International News Of The Day (Dainik Bhaskar)

वॉशिंगटन2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

यूक्रेन के मुद्दे पर अमेरिका और रूस में तनाव बढ़ता जा रहा है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने सोमवार को यूक्रेन के राष्ट्रपति वोल्दोजिमिर जेलेंस्की से बातचीत की। दूसरी तरफ, चीन ने एक बार फिर ताइवान पर दबाव बनाने के लिए उसके डिफेंस में अपने फाइटर जेट्स भेजे। यहां पढ़िए दुनिया की टॉप पांच खबरें।

बाइडेन की रूस को दो टूक

अमेरिका ने कहा है कि अगर रूस ने यूक्रेन पर हमला किया तो वो निर्णायक कार्रवाई करेगा।

अमेरिका ने कहा है कि अगर रूस ने यूक्रेन पर हमला किया तो वो निर्णायक कार्रवाई करेगा।

बाइडेन ने सोमवार को यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की से बातचीत की। अमेरिकी राष्ट्रपति ने जेलेंस्की को भरोसा दिलाया कि अगर रूस ने उनके देश पर हमला किया तो अमेरिका चुप नहीं बैठेगा। बाइडेन ने कहा- हम रूस के खिलाफ निर्णायक कार्रवाई करेंगे। जेलेंस्की से बातचीत के कुछ दिन पहले बाइडेन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन से भी फोन पर बातचीत की थी। 50 मिनट की इस बातचीत में बाइडेन ने साफ कर दिया था कि रूस अगर यूक्रेन पर हमला करता है तो उसके खिलाफ सख्त आर्थिक प्रतिबंध लगाए जाएंगे। दूसरी तरफ, रूस ने साफ कर दिया है कि वो अमेरिकी दबाव के आगे झुकने को तैयार नहीं है। यूक्रेन के मुद्दे पर अमेरिका और रूस अधिकारी इस महीने के आखिर में जिनेवा में मीटिंग करने वाले हैं। अमेरिका को नाटो और पश्चिमी देशों का समर्थन हासिल है।

चीन ने फिर ताइवान को धमकाया

चीन ने ताइवान के एयर डिफेंस जोन में सोमवार को फिर अपने फाइटर जेट्स भेजे।

चीन ने ताइवान के एयर डिफेंस जोन में सोमवार को फिर अपने फाइटर जेट्स भेजे।

चीन के फाइटर जेट्स ने सोमवार को एक बार फिर ताइवान में घुसपैठ की। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चीन ने पहले एक फाइटर जेट ताइवान के एयर डिफेंस जोन में भेजा था। इसके कुछ देर बाद फिर घुसपैठ हुई। हालांकि, ताइवान की एयरफोर्स भी इस दौरान अलर्ट पर थी। ताइवान न्यूज वेबसाइट के मुताबिक, उसने चीनी फाइटर जेट्स से निपटने के लिए अपना एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम एक्टिव कर दिया है। दिसंबर से अब तक 83 चीनी एयरक्राफ्ट ताइवान के एयर डिफेंस जोन में घुस चुके हैं। इनमें 46 फाइटर जेट्स, 2 बॉम्बर और 35 स्पॉटर एयरक्राफ्ट्स हैं। अमेरिका ने पिछले दिनों एक बयान में साफ कर दिया था कि अगर चीन ने ताइवान पर हमले की कोशिश की तो अमेरिका और नाटो उसकी मदद करने में देर नहीं लगाएंगे। चीन ने इसका जवाब में कहा था- हमारी बाइडेन एडमिनिस्ट्रेशन को सिर्फ इतनी सलाह है कि वो आग से खेलने की कोशिश न करें।

अफगान-पाकिस्तान रिश्ते तल्ख हुए

तालिबान ने पिछले दिनों पाकिस्तानी सेना द्वारा लगाई फेंसिंग बुल्डोजर से उखाड़ दी थी।

तालिबान ने पिछले दिनों पाकिस्तानी सेना द्वारा लगाई फेंसिंग बुल्डोजर से उखाड़ दी थी।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सोमवार को माना कि बॉर्डर फेंसिंग के मुद्दे पर अफगानिस्तान की तालिबान हुकूमत से मतभेद हैं। हालांकि, उन्होंने यह उम्मीद भी जताई कि मुद्दा बातचीत से सुलझ जाएगा। पाकिस्तानी मीडिया में इस तरह के तमाम फोटोज और वीडियोज मौजूद हैं, जिनमें साफ नजर आता है कि अफगान तालिबान के लोगों ने पाकिस्तान से लगने वाली सीमा पर कंटीले तारों की फेंसिंग बुल्डोजर के जरिए हटा दी। वहां मौजूद पाकिस्तान के सैनिक इसका विरोध भी नहीं कर सके। इतना ही नहीं फेंसिंग उखाड़ने के बाद तालिबानी पाकिस्तानी सेना का तमाम साज-ओ-सामान भी जब्त करके अपने साथ ले गए। अफगान तालिबान के प्रवक्ता ने कहा- सीमा पर कुछ तनाव है। लेकिन, हमने पहले ही साफ कर दिया था कि हम डूरंड लाइन को नहीं मानते।

इजराइल की दो वेबसाइट्स हैक​​​​​​​

ईरान के हैकर्स ने इजराइली वेबसाइट्स हैक करने के बाद यह पोस्ट लगाया।

ईरान के हैकर्स ने इजराइली वेबसाइट्स हैक करने के बाद यह पोस्ट लगाया।

सोमवार को इजराइल की दो मीडिया वेबसाइट्स ईरान के हैकरों के निशाने पर थीं। यरूशमल पोस्ट और हिब्रू वेब मारिव को हैक कर लिया गया। हैकरों ने आरोप लगाया कि ईरान के पूर्व आर्मी जनरल कासिम सुलेमानी की हत्या के पीछे इजराइल का हाथ था। हालांकि, ईरान सरकार का दावा है कि सुलेमानी की हत्या अमेरिका ने ड्रोन से मिसाइल दागकर की थी। सोमवार को ही सुलेमानी की हत्या की दूसरी बरसी थी। सुलेमानी को ईरान में वहां के राष्ट्रपति से भी ज्यादा लोकप्रिय माना जाता है। 3 जनवरी 2020 को सुलेमानी बगदाद की सीक्रेट विजिट पर थे। इसी दौरान एक अमेरिकी प्रिडेटर ड्रोन से मिसाइल दागी गई। इसमें सुलेमानी और उनके साथ मौजूद 5 लोग मारे गए।

अमेरिकी बेस पर हमला नाकाम

सोमवार को मार गिराए गए ड्रोन का टुकड़ा दिखाता अमेरिकी सैनिक।

सोमवार को मार गिराए गए ड्रोन का टुकड़ा दिखाता अमेरिकी सैनिक।

इराक में सोमवार को बगदाद एयरपोर्ट के करीब स्थित अमेरिकी एयरबेस पर ड्रोन से किया गया हमला नाकाम कर दिया गया। अमेरिकी सैनिकों ने दो हथियारबंद ड्रोन्स को मार गिराया। हमले में किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। माना जा रहा है कि यह हमला ईरान समर्थक किसी गुट ने किया था जो दो साल पहले हुई जनरल सुलेमानी की मौत का बदला लेना चाहते थे। अमेरिका ने यहां अपना बेहतरीन एंटी ड्रोन सिस्टम तैनात किया है। ‘अरब न्यूज’ के मुताबिक, इस हमले के पीछे आईएसआईएस का भी हाथ हो सकता है। रिपोर्ट के मुताबिक, ये सुसाइड ड्रोन्स थे और इनका निशाना बगदाद एयरपोर्ट भी था। इससे कुछ दूरी पर ही अमेरिकी एयरबेस भी है।

खबरें और भी हैं…



Source