यूके में तेजी से फैल रहा कोरोना का संक्रमण, चिंताओं के चलते J&J की सिंगल डोज वैक्सीन को अप्रूवल दिया गया

0
58
Article Top Ad



डिजिटल डेस्क, लंदन। यूनाइटेड किंगडम (यूके) ने देश में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते शुक्रवार को कोरोना की एक और वैक्सीन को उपयोग के लिए अधिकृत किया। भारत में मिला कोरोना का नया वेरिएंट यूके में अब तेजी से फैल रहा है, जिसने चिंता बढ़ा दी है। इसी वजह से यूके ने कोरोना की इस सिंगल डोज वैक्सीन को अप्रूवल दिया है। मेडिसिन एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी ने कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल डोज वैक्सीन सुरक्षा, गुणवत्ता और प्रभावशीलता के अपेक्षित मानकों को पूरा करती है।

फाइजर/बायोएनटेक, एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी, और मॉडर्ना की विकसित दो डोज वाली वैक्सीन का इस्तेमाल पहले से ही यूके में हो रहा है। अब  जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन के अप्रूवल के बाद यूके के पास चार वैक्सीन हो गई है। रेगुलेटर ने कहा कि J&J की सहायक कंपनी जेनसेन द्वारा विकसित वैक्सीन कोविड-19 संक्रमण को रोकने में ओवरऑल 67 प्रतिशत और गंभीर बीमारी या अस्पताल में भर्ती होने से रोकने में 85 प्रतिशत प्रभावी है। इसे 2 से 8 डिग्री सेल्सियस (36 से 47 एफ) के रेफ्रिजरेटर तापमान पर संग्रहीत किया जा सकता है।

यूके ने दिसंबर से तेजी से टीके लगाए हैं। लगभग 58 प्रतिशत आबादी ने कम से कम एक खुराक प्राप्त की है और लगभग 35 प्रतिशत ने दो शॉट प्राप्त किए हैं। ब्रिटेन में हाल के दिनों में मिले भारत में सबसे पहले पाए गए वायरस के वेरिएंट के बाद मामलो में तेजी आई है। माना जाता है कि कोरोनावायरस का ये वेरिएंट पहले पाए गए स्ट्रेन की तुलना में ज्यादा ट्रांसमिसिबल है। गुरुवार को, यूके में कोरोना संक्रमण के 3,542 मामले दर्ज किए गए। 12 अप्रैल के बाद करोना संक्रमण के एक दिन में ये सबसे ज्यादा केस है।

कोरोना के बढ़ते मामलों ने यूके की चिंता बढ़ा दी है। आशंका जताई जा रही है कि वायरस का ये वेरिएंट युवाओं को अपनी चपेट में ले सकता है। इनमें से कई लोगों को अस्पताल में भर्ती भी होना पड़ सकता है। वहीं अगर कोरोना संक्रमण के मामलों में इसी तरह से तेजी बनी रहती है तो फिर 21 जून से इंग्लैंड में लॉकडाउन प्रतिबंधों में अगली निर्धारित ढील में देरी हो सकती है।
 



Source